Home राजनीति BJP नेता राजकुमार चौहान की सोनिया गांधी से हुई मुलाकात, कांग्रेस में...

BJP नेता राजकुमार चौहान की सोनिया गांधी से हुई मुलाकात, कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें तेज

46
0

BJP नेता राजकुमार चौहान की सोनिया गांधी से हुई मुलाकात, कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें तेज: दिल्ली विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे समय बीत रहा है वैसे-वैसे इसमें रोमांच देखने को मिल रहा है। दिल्ली की मंगोलपुरी से विधायक रहे और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रहे राजकुमार चौहान ने लोकसभा चुनाव के समय बीजेपी पार्टी का दामन थाम लिया था। अब दिल्ली विधानसभा चुनाव के आने के बाद एक बार फिर से कयास लगाए जा रहे है दिल्ली के कद्दावर नेता रहे राजकुमार चौहान की कांग्रेस में वापसी हो सकती है। बता दें की राजकुमार चौहान, शीला दीक्षित सरकार में मंत्री भी रह चुके है और वह मंगोलपुरी विधानसभा सीट से चार बार विधायक भी रह चुके है।

BJP नेता राजकुमार चौहान की सोनिया गांधी से हुई मुलाकात, कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें तेज

राजकुमार चौहान की कांग्रेस में वापसी को लेकर पहले से ही खबरें सामने आ रही थी जो अब सच साबित होती हुई नजर आ रही है। मीडिया न्यूज के मुताबिक चौहान की घर वापसी के लिए सोनिय गांधी ने मंजूरी दे दी है। अब ऐसा माना जा रहा है की वह जल्द ही कांग्रेस पार्टी में शामिल हो सकते है। हालांकि अभी इस बारे में राजकुमार चौहान की तरफ से कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है।

कांग्रेस पार्टी की तरफ से उन्हें लोकसभा का टिकट नहीं दिए जाने से नाराज राजकुमार चौहान ने कांग्रेस का दामन छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे। वह पार्टी से टिकट नहीं मिलने से खासे नाराज थे।

राजकुमार चौहान ने दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा के साथ सोनिया गांधी से आधे घंटे मुलाकात की है. इसके बाद दोनों नेता एक साथ एक ही कार में सोनिया के घर से बाहर भी निकले.

राजकुमार चौहान का मंगोलपुरी विधानसभा सीट पर अच्छा-खासा दबदबा है और वह इस सीट से चार बार विधायक भी रह चुके है। आम आदमी पार्टी के आने से पहले यह सीट कांग्रेस का गढ़ मानी जाती थी लेकिन कांग्रेस के इस गढ़ को AAP नेता राखी बिड़लान ने ढहा दिया। साल 2013 और फिर 2015 में राजकुमार चौहान को हराकर राखी बिड़लान ने सभी को हैरान कर दिया। राखी को केजरीवाल कैबिनेट में मंत्री भी बनाया गया।

Delhi Vidhan Sabha Chunav 2020: दिल्ली के मुख्यमंत्री के तौर पर कौन है लोगों की पहली पसंद?

बता दें कि मंगोलपुरी विधानसभा सीट साल 1993 में अस्तित्व में आयी थी। यह सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। यहां पर पूर्वांचल, दक्षिण भारत समेत अन्य राज्यों के लोग रहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here