दिल्ली में डिप्थीरिया से मरने वालो संख्या 24 हुई

दिल्ली में डिप्थीरिया से मरने वालो संख्या 24 हुई

0
SHARE

दिल्ली में डिप्थीरिया से मरने वालो संख्या 24 हुई: दिल्ली में डिप्थीरिया से मरने वाले लोगों की संख्या में पिछले कुछ समय से इजाफा देखा जा रहा है| अब उत्तरी दिल्ली के एक अस्पताल में डिप्थीरिया से दो लोगों की मौत खबर है| इन दो लोगों के मरने के साथ दिल्ली में डिप्थीरिया से मरने वाले लोगो का आंकड़ा 24 पर पहुँच गया है| इससे पहले शुक्रवार को अधिकारियों ने बताया था की दिल्ली में इस बीमारी से मरने दिल्ली के निवासियों की संख्या पांच है, जबकि अन्य लोग अन्य राज्यों के है| इस बीमारी से मरने वाले लोगों की नई संख्या किंग्सवे कैंप स्थित महर्षि वाल्मीकि संक्रामक बीमारी अस्पताल से सामने आई है|

दिल्ली में डिप्थीरिया से मरने वालो संख्या 24 हुई

एक अधिकारी ने जानकारी दी की 6 सितंबर को दिल्ली के नगर निगम के अस्पताल में 183 मरीजों को एडमिट किया गया था जिसमें से 23 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है| जबकि एक मरीज की मौत दिल्ली सरकार के द्वारा संचालित एलएनजेपी अस्पताल में हुई है| ध्यान देने वाली बात है की अन्य मौसमी बीमारी के कारण भी कई लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी है|

मध्य प्रदेश: ग्वालियर शहर में एक घर में फ्रिज का कंप्रेसर फटने से 4 लोगों की मौत

दिल्ली में अगस्त महीने से पहले चार दिन के अंदर मलेरिया के करीब 21 मामले सामने आए| इन मामलों के सामने आने के बढ़ मच्छर से होने वाली बीमारी से पीड़ित लोगों की संख्या बढ़कर 109 पहुँच गई| नगरपालिका के द्वारा आज एक रिपोर्ट जारी की गई है, इस रिपोर्ट के मुताबिक दक्षिणी दिल्ली नगर निगम इलाके में फरवरी में मलेरिया के दो मामले रिपोर्ट किये गये, अप्रैल और मार्च में एक-एक और मई में 17, जून में 25, जुलाई में 42 और चार अगस्त तक 21 मामले दर्ज किये गये. नगर निगम शहर में मच्छर जनित बीमारियों पर आंकड़ा सूचीबद्ध करता है|

इस साल डेंगू के कुल 56 मामलों में 7 मामले चार अगस्त तक ही सामने आ गए थे| जनवरी में छह, फरवरी में तीन, मार्च में एक, अप्रैल में दो, मई में 10, जून में आठ और जुलाई में 19 मामले सामने आए| पिछले हफ्ते चिकनगुनिया के दो नए मामले भी दर्ज किये गए|

इन मामलों को मिलाकर कुल 37 लोग चिकनगुनिया से ग्रसित हो चुके है| बात करें पूरे देश की तो इससे अब तक 14 हजार से अधिक लोग प्रभावित हुए है| 22 जुलाई तक डेंगू से मरने वाले लोगों की संख्या 30 आंकी गई| नेशनल वेक्टर बोर्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम (एनवीबीडीसीपी) के मुताबिक केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के तहत देश भर में 14,233 मामले सामने आए हैं. केरल में 22 जुलाई तक 2897 मामले सामने आए, जबकि इस बीमारी से 21 लोगों की मौत हुई|