Home शायरी मतलबी शायरी 2019 | Matlabi Log Dost Shayari | Selfish Friend Shayari

मतलबी शायरी 2019 | Matlabi Log Dost Shayari | Selfish Friend Shayari

377
0

मतलबी शायरी 2019 | Matlabi Log Dost Shayari | Selfish Friend Shayari जिंदगी में के ऐसे लोग हमे ऐसे मिलते है जो सिर्फ अपने मतलब यानि की अपने काम के लिए बात करते है। जो एक तरह से हमारे दोस्त तो होते है लेकिन वह सिर्फ केवल हर समय अपने लिए सोचते है या अपने फायदे के लिए ही अपने दोस्तों का साथ देते है या रहते है। इस प्रकार के लोगों को मतलबी या सेल्फिश कहना गलत नहीं होगा। अक्सर हमे ऐसे लोगों की हरकतों और उनके व्यव्हार को लेकर गुस्सा आता है लेकिन हम चाहकर भी उसे कुछ कह नहीं सकते। बेटी शायरी

Matlabi Log Dost Shayari

आज हम आपके लिए मतलबी दोस्त शायरी, मैसेज, स्टेटस, एसएमएस, इमेज आदि की कलेक्शन लेकर आए है। जिनकी मदद से आप अपने मन में भरे अपने मतलबी दोस्तों के लिए गुस्से को बाहर निकाल सकते है। आप उन्हें अपने व्हाट्सप्प, फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर कर अपनी फीलिंग को बाहर निकाल सकते है। भाई शायरी

मतलबी लडकी से अच्छी तो मेरी सिगरेट हे यारो……..
जो मेरे होठ से अपनी जिंदगी शुरू करती हे..
ओर मेरे कदमो के नीचे अपना दम तोड देती हे…! अलोन शायरी

……………………………………

अपने मतलब के लिये लोग, कितना बदल जाते हैं
वे अपनों को पीछे धकेल कर, आगे निकल जाते हैं
कोई मरता भी हो तो उनकी बला से,
वो तो लाशों पर पाँव रखकर, आगे निकल जाते हैं

…………………………………..

कोहनी पर टिके हुए लोग,
टुकङों पर बिके हुए लोग,
करते हैं बरगद की बातें
ये गमले में उगे हुए लोग

…………………………………

मतलबी शायरी 2019

इंसान लेने से लेकर मरने तक कई तरह के लोगों से टकराता है। जिनमें से कई लोग अच्छे होते, कई बुरे, कई लोग मतलबी आदि। जब इंसान को अच्छे लोग मिलते है तो वह कामयाबी के शिखर पर पहुँच जाता है लेकिन जब इंसान का सामना बुरे लोगों से होता है तो वह बर्बाद हो जाते है। लेकिन जब इंसान का सामना ऐसे लोगों से होता है जो साथ तो आ[के हमेशा रहते है लेकिन आपको अंदर से खोलना बना देते है या फिर वह आपके साथ केवल अपने फायदे के लिए रहते है। पिता पर शायरी

प्यासी ये निगाहें तरसती रहती है
तेरी याद मे अक़्सर बरसती रहती है
हम तेरे खयालों मे डूबे रहते है
और ये ज़ालिम दुनियां हम पर हंसती रहती है

…………………………………

तेरी रुस्वाई से मुझे एक सबक मिला है
दुश्मन भी इतना नहीं करता जितना
तूने दोस्त बनके किया है।

…………………………………

कभी मतलब के लिए
तो कभी बस, दिल्लगी के लिए
हर कोई मुहब्बत ढूंढ रहा है
यहाँ ज़िन्दगी के लिये

………………………………..

मतलबी दुनिया में लोग अफसोस से कहते है की,
कोई किसी का नही…?
लेकीन कोई यह नहीं सोचता की हम किसके हुए…

………………………………..

मज़बूत होने में मज़ा ही तब है,
जब सारी दुनिया कमज़ोर कर देने पर तुली हो..

………………………………..

सिखा दिया दुनिया ने मुझे अपनों पे भी शक करना
मेरी फ़ितरत में तो था गैरों पे भरोसा करना

………………………………..

तिरंगा शायरी

मसला यह भी है इस ज़ालिम दुनिया का ..
कोई अगर अच्छा भी है तो वो अच्छा क्यॅ है..

………………………………….

आज गुमनाम हूँ तो ज़रा फासला रख मुझसे..
कल फिर मशहूर हो जाऊँ तो कोई रिश्ता निकाल लेना..

………………………………….

देख के दुनिया अब हम भी बदलेंगे मिजाज़
रिश्ता सब से होगा लेकिन वास्ता किसी से नहीं

………………………………..

कुछ यूँ हुआ कि.जब भी जरुरत पड़ी मुझे
हर शख्स इतेफाक से.मजबूर हो गया !!

………………………………….

मुखौटे बचपन में देखे थे मेले में टंगे हुए
समझ बढ़ी तो देखा लोगों पे है चढ़े हुऐ

दुनिया में सबको दरारों में से झांक ने की आदत है,
दरवाजि खुले रख दो, कोई आस पास भी नहीं दिखेगा

………………………………..

सबके दिलों में धङकना ज़रूरी नहीं होता साहब..
कुछ लोगों की अांखों में खटकने का भी एक अलग मज़ा हैं

भुला देंगे तुम्हे भी जरा सब्र तो कीजिए
आपकी तरह मतलबी होने में जरा वक्त लगेगा !!

……………………………………

चिठ्ठी ना कोइ संदेश जाने वो कौन सा देश जहां तुम चले गए हो !
इस दिल पे लगा के ठेंस जाने वो कौन सा देश जहां तुम चले गए हो !!

कुछ मतलबी लोग ना आते,
तो जिंदगी इतनी बुरी भी ना थी !!

…………………………………….

मैं सूरज के साथ रहकर भी भूला नहीं अदब…
लोग जुगनू का साथ पाकर मगरूर हो गये

तुम्हारे होगें चाहने वाले बहुत इस ‎कायनात‬ में,‬‬
मगर इस ‎पागल‬ की तो कायनात ही तुम हो..‬‬

…………………………………..

ये मत समझ कि तेरे काबिल नहीं हैं हम,
तड़प रहे हैं वो अब भी जिसे हासिल नहीं हैं हम.

……………………………………..

बातें विश्वास और भरोसे की बेमानी सी लगती हैं,
झूठी दुनिया में वफादारी अनजानी सी लगती है
झूठे लोगों से भरी पड़ी हैं कहानियां यहाँ किताबों में
प्यार से बोल दे कोई तो मेहरबानी सी लगती है।

…………………………………

जरूर एक दिन वो शख्स तड़पेगा हमारे लिए…
अभी तो खुशियाँ बहोत मिल रही है उसे मतलबी लोगो से.

 

हम मरना भी उस अंदाज़ में पसंद करते है..!
जिस अंदाज में लोग जीने के लिये तरसते है..!

………………………………….

अगर तुम अपने पापा की “परी” हो, तो हम
भी अपने बाप के “नवाब” है !

ऐसे लोग बड़े मतलबी होते है और जब आपको उनके बारे में पता चलता है तो आपको गुस्सा आता है। लेकिन आप उन्हें कुछ कह नहीं पाते या फिर बात खराब होने या अपने अच्छे व्यव्हार की वजह से समय पर छोड़ देते है। मतलबी दोस्त शायरी, मैसेज की मदद से आप अपनी फीलिंग को एक्सप्रेस कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here