Home सुर्खियां सुकन्या समृद्धि योजना क्या है? इसके लाभ, ब्याज की दर, कैलकुलेटर

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है? इसके लाभ, ब्याज की दर, कैलकुलेटर

64
0

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है? इसके लाभ, ब्याज की दर, कैलकुलेटर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत की थी। इस योजना की शुरुआत कर सरकार का लक्ष्य था की लड़कियों की उच्च शिक्षा, शादी में कोई परेशानी नहीं आए। इस योजना से सरकार बच्चियों को आर्थिक रूप से मजबूत करना चाहती थी। लड़कियों के माता-पिता को उसके बड़े होने पर उच्च शिक्षा या शादी को लेकर पैसों की परेशानी का सामना करना पड़ता है। ऐसे में सरकार ने इस योजना के तहत बच्चियों की पढ़ाई और शादी में सहायता करने का फैसला लिया।

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है? इसके लाभ, ब्याज की दर, कैलकुलेटर
सुकन्या समृद्धि योजना क्या है? इसके लाभ, ब्याज की दर, कैलकुलेटर

Sukanya Samriddhi Yojana 2019

बता दें की सुकन्या समृद्धि योजना एक बचत योजना है, जिसके जरिए सरकार के “बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना” भी जुड़ी हुई है। इस योजना के तहत 10 साल से छोटी लड़कियों के माता-पिता अकाउंट खोलकर बचत की जा सकती है। इस प्रकार के केवल 2 खाते ही खोले जा सकते है। इसका मतलब यह की आपकी तीसरी बच्ची को इसका लाभ नहीं मिलेगा। इन खातों की अवधि बच्ची के 18 साल या 21 सा के होने तक होती है। Haat Bazar Yojana 2019

सुकन्या समृद्धि योजना के लाभ (SSY Benefits)

– सुकन्या योजना के तहत आपको आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत विभिन्न कर में लाभ मिलेगा |
यह योजना अन्य योजनाओं की तुलना में अधिक ब्याज दर प्रदान करती है |
इस योजना के खाते में आप सालाना न्यूनतम 250 /- रूपये की राशी भी जमा करवा सकते है |
सुकन्या समृद्धि योजना के तहत आपका खाता पूरे भारत में हस्तांतरणीय है |
अगर लड़की 10 वर्ष की आयु प्राप्त कर लेती है, तो वह चाहे तो अपने हिसाब से अपना खाता संचालित कर सकती है |
SSY खाते में से आप राशी खाता पूरी तरह से परिपक्त होने के बाद ही निकल सकते है |
यह योजना लड़की और उनके माता-पिता दोनों के लिए फायदेमंद है क्योंकि यह दोनों की मदद करती है | मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना

सुकन्या समृद्धि के लिए योग्यता

इस योजना के लिए केवल हमारे देश की बेटिया ही आवेदन कर सकते है |
सुकन्या समृद्धि खाता केवल लड़की के माता-पिता या कानूनी अभिभावकों ही खोला सकते है |
खाता खोलते समय पात्र बालिका की आयु 10 वर्ष से कम होनी चाहिए |
एक परिवार के लिए केवल दो ही सुकन्या योजना खाते खोले जा सकते है |

सुकन्या समृद्धि के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट

बेटी का जन्म प्रमाण पत्र |
Depositor का पहचान पत्र (पैन कार्ड / पासपोर्ट / राशन कार्ड / ड्राइविंग लाइसेंस) |
Depositor के पते का प्रमाण पत्र (पैन कार्ड / राशन कार्ड / बिजली का बिल / टेलीफोन बिल) | एक परिवार एक नौकरी योजना 2019 One Family One Job Yojana

How to Apply For Sukanya Samriddhi Yojana

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए कैसे आवेदन करें

सुकन्या समृद्धि योजना (एसएसवाई) के खाते को खोलने के लिए अपनी नजदीकी सरकारी व निजी बैंक, पोस्ट ऑफिस में संपर्क करें।
जहाँ आपको एसएसवाई एप्लीकेशन फॉर्म मिलेगा। जिसे उसी जगह पर भरकर जमा करवा दे।
आप चाहे तो ऑनलाइन वेबसाइट से भी एसएसवाई न्यू अकाउंट एप्लीकेशन फॉर्म को डाउनलोड कर सकते है।

Sukanya Samriddhi Yojana Application Form

सुकन्या समृद्धि योजना एप्लीकेशन फॉर्म को आप यहाँ नीचे दिए बैंक या पोस्ट की वेबसाइट से भी डाउनलोड कर सकते है।

भारतीय रिजर्व बैंक की वेबसाइट
द इंडिया पोस्ट वेबसाइट
सरकारी बैंकों की वेबसाइट (SBI, PNB, BOB)
निजी क्षेत्र के बैंकों की वेबसाइट (जैसे आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक और एचडीएफसी बैंक)

Sukanya Samriddhi Yojana Calculator

सुकन्या समृद्धि योजना (एसएसवाई) खाते के लिए न्यूनतम और अधिकतम राशि

सुकन्या समृद्धि योजना खाते में एक साल में कम से कम 250 रूपये और अधिक से अधिक 50 लाख रूपये तक जमा करवाएं जा सकते है।
आपको खाता खोलने की तारीख से 15 साल तक हर साल कम से कम न्यूनतम राशि का निवेश करना होगा | इसके बाद खाता परिपक्वता तक ब्याज अर्जित करना जारी रखेगा |

प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना खाते की अवधि

सुकन्या समृद्धि योजना की अवधि बच्ची के 18 वर्ष या 21 वर्ष होने तक है।
इस योजना में केवल 15 साल तक ही योगदान या निवेश किया जा सकता है।
जमा किए गए पैसों पर अवधि पूर्ण होने तक बराबर ब्याज मिलता रहता है।

सुकन्या समृद्धि योजना में अन्य किसी बचत योजना के मुकाबले काफी अच्छा इंट्रेस्ट यानि ब्याज मिलता है। इस योजना का उद्देश्य बच्चियों को युवावस्था में आने वाली आर्थिक परेशानियों के हल को ध्यान में रखते हुए सरकार लेकर आई है। यह देखा गया है की कई लड़कियां पैसों की तंगी की वजह से उच्च शिक्षा ग्रहण नहीं कर पाती लेकिन अब इस योजना के आने से उन्हें आर्थिक मजबूती मिलेगी और वह अपने सपनों को साकार कर सकेंगी। कई बच्चियों की शादी में पैसों की तंगी की वजह से अड़चन आ जाती है लेकिन इस योजना में थोड़े पैसे जमा करने और सरकार की तरफ से दिए जा रहे 8 से 9 प्रतिशत के ब्याज से शादी में आने वाली परेशानी को हल किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here