Home भारत Rajasthan Infant Deaths Live Update: कोटा जेके लोन अस्पताल में बच्चों की...

Rajasthan Infant Deaths Live Update: कोटा जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौत की संख्या बढ़कर हुई 107, सांसद ओम बिरला ने किया दौरा

83
0

Rajasthan Infant Deaths Live Update: कोटा जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौत की संख्या बढ़कर हुई 107, सांसद ओम बिरला ने किया दौरा: राजस्थान के कोटा शहर में स्तिथ जेके लोन हॉस्पिटल में बच्चों की मौत का आंकड़ा रुकने का नाम नहीं ले रहा है अब यह आंकड़ा बढ़कर 107 पहुंच गया है। कोटा से सांसद और लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने आज शनिवार को मरने वाले नवजात बच्चों के पिरवार से मुलाकात की। उन्होंने बताया की- आज मैं जेके लोन अस्पताल में मरने वाले नवजात बच्चों के परिवार से मिला इस दुःख के समय में हम इन सभी बच्चों के परिवार के साथ है। मैंने से मामले में राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत को दो बार पत्र लिखकर- अस्पताल में चिकित्सा सुविधा को जल्द से जल्द बेहतर बनाने का सुझाव दिया है।

राजस्थान Live Update: कोटा जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौत की संख्या बढ़कर हुई 107, सांसद ओम बिरला ने किया दौरा
राजस्थान Live Update: कोटा जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौत की संख्या बढ़कर हुई 107, सांसद ओम बिरला ने किया दौरा

Rajasthan Infant Deaths Live Update

कोटा के जेके लोन हॉस्पिटल में लगातार हो रही नवजात बच्चों की मौत को देखते हुए केंद्र सरकार ने एक टीम को कोटा भेजा है। बीते शुक्रवार को राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा व परिवार मंत्री प्रताप खाचरियावास ने भी दौरा किया था। उनके स्वागत के लिए कालीन बिछवाई गई और भव्य स्वागत किया गया। इस मामले के तूल पकड़ता देख कालीन को हटा दिया गया। इस बारे में पूछे जाने पर जेके लोन अस्पताल के एक वरिष्ठ कर्मचारी ने कहा कि कालीन को सूखने के लिए बिछाया गया था, मंत्रियों के स्वागत के लिए नहीं।

कोटा के जेके लोन अस्पताल में नवजात बच्चों की मौत बीते के महीने से जारी। अब मौत का आंकड़ा बढ़ने और मीडिया में तूल पकड़ने के बाद आनन-फानन में मंत्रियों के दौरे हो रहे है। शक्रवार तक 105 बच्चों की मौत हो गई थी जो अगले दिन शनिवार को बढ़कर 107 हो गई। बच्चों की मौत खबर के तूल पकड़ने पर राज्य के दो मंत्रियो ने अस्पताल कर दौरा किया।

यूपी के झांसी में स्टोन क्रशर की दीवार गिरने से 5 मजदूरों की मौत, कई घायल, राहत-बचाव का काम जारी

अस्पताल में हो रही बच्चों की मौत पर जांच टीम ने पाया की 15 में से सिर्फ 9 वेंटिलेटर की काम कर रहे थे। इन सभी पहलुओं पर स्पष्टीकरण की मांग करते हुए, आयोग ने उन उपकरणों के बारे में भी जानकारी मांगी है जो काम करने की स्थिति में नहीं थे जब 48 घंटे के भीतर 10 बच्चों की मृत्यु हो गई थी। आयोग ने यह भी पाया कि अस्पताल में कर्मचारियों की भारी कमी है। मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के मानदंडों से यह काफी पीछे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here