Home मनोरंजन The Zoya Factor Movie Review in Hindi: फिल्म द जोया फैक्टर रिव्यु,...

The Zoya Factor Movie Review in Hindi: फिल्म द जोया फैक्टर रिव्यु, रेटिंग, कहानी, कास्ट, बजट

92
0

The Zoya Factor Movie Review in Hindi: फिल्म द जोया फैक्टर रिव्यु, रेटिंग, कहानी, कास्ट, बजट बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनम कपूर और एक्टर दलकीर सलमान की फिल्म द जोया फैक्टर इस हफ्ते शुक्रवार को सिनेमाघरों में दस्तक देने जा रही है। यह फिल्म बीते काफी समय से सुर्खियों में बनी हुई है जिसका कारण है फिल्म का ट्रेलर जो काफी अच्छा है। इस फिल्म में कॉमेडी, सस्पेंस और रोमांस देखने को मिलेगा। फिल्म समीक्षकों ने इस फिल्म को लेकर अच्छी प्रतिक्रिया दी है। फिल्म की कहानी काफी अच्छी है। तो चलिए अब दोस्तों पढ़ते है फिल्म जोया फैक्टर के रिव्यु हिंदी में..

The Zoya Factor Movie Review in Hindi: फिल्म द जोया फैक्टर रिव्यु, रेटिंग, कहानी, कास्ट, बजट
The Zoya Factor Movie Review in Hindi: फिल्म द जोया फैक्टर रिव्यु, रेटिंग, कहानी, कास्ट, बजट

The Zoya Factor Movie Review in Hindi

फिल्म द जोया फैक्टर की कहानी जोया सोलंकी नाम की लड़की के इर्द-गिर्द घूमती है। यह लड़की अपने आप को लकी चार्म समझती है। जोया के पिता उसे क्रिकेट के लिए लकी मानते है। इस फिल्म में जोया का किरदार सोनम कपूर ने निभाया है। जिसका जन्म 25 जून 1983 को होता है। यही वह दिन है जब भारत ने क्रिकेट के इतिहास में पहली बार वर्ल्ड कप जीता था। जोया के पिता क्रिकेट के काफी बड़े फैन होते है। फिल्म में दिखाया गया है की लोग मेहनत से ज्यादा किसमत पर विश्वास करने लगते है और फिर वह अंधविश्वास में बदल जाती है। Prasthanam Movie Review in Hindi

फिल्म द जोया फैक्टर की कहानी क्या है?

फिल्म में आगे दिखाया गया है कि इस बीच जोया के क्रिकेट के लिए लकी होने के बारे में सभी को पता चलता है और उनकी जिंदगी ही बदल जाती है. लोग उन्हें लकी चार्म देवी मानने लगते हैं और उनकी पूजा करने लगते हैं. फिल्म में रोमांस के साथ एंटरटेनमेंट भी कूट कर भरा है. सोनम कपूर की फिल्म द जोया फैक्टर का आनंद लेने के लिए सिनेमाघरों में जाए।

Pal Pal Dil Ke Paas Movie Review in Hindi

इस फिल्म का निर्देशन अभिषेक शर्मा ने किया है जो इससे पहले ‘तेरे बिन लादेन’ और ‘द शौकीन्स’ और ‘परमाणुः द स्टोरी ऑफ पोखरण’ फिल्मों का निर्देशन कर चुके है। फिल्म की कहानी काफी अच्छी है। यह फिल्म हमें के मैसेज भी देती है। कैसे लोग मेहनत से ज्यादा अंधविश्वास पर भरोसा करने लगते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here