Home सुर्खियां तीस हजारी हिंसा का नया Video आया सामने, हिंसक वकीलों के सामने...

तीस हजारी हिंसा का नया Video आया सामने, हिंसक वकीलों के सामने हाथ जोड़ते हुए नजर आई DCP

121
0

तीस हजारी हिंसा का नया Video आया सामने, हिंसक वकीलों के सामने हाथ जोड़ते हुए नजर आई DCP तीस हजारी कोर्ट में हुई पुलिस और वकीलों के हिंसक झड़प का एक हैरान कर देने नया वाला वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में दिल्ली पुलिस की नार्थ डीसीपी मोनिका भारद्वाज हाथ जोड़े हुए दिख रही है। वह वकीलों से शांत होने की अपील करती हुई नजर आ रही है, लेकिन वकीलों का समूह कुछ भी सुनने को तैयार नहीं होता और उनपर और साथ में खड़े अन्य पुलिसकर्मियों पर टूट पड़ते है। इस वीडियो में डीसीपी वकीलों से शांत होने की अपील करती हुई दिख रही लेकिन वकील उन्हें और अन्य पोलिसकर्मियों को धक्का मारकर दूर ले जाते है।

तीस हजारी हिंसा का नया Video आया सामने, हिंसक वकीलों के सामने हाथ जोड़ते हुए नजर आई DCP
तीस हजारी हिंसा का नया Video आया सामने, हिंसक वकीलों के सामने हाथ जोड़ते हुए नजर आई DCP

तीस हजारी हिंसा का नया Video आया सामने

बता दें की दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच पार्किंग को लेकर कोई विवाद को गया था जो देखते ही देखते हिंसा में तब्दील हो गया। ये वीडियो हिंसा वाले दिन का बताया जा रहा है जिसमें पुलिसकर्मी डीसीपी मोनिका भारद्वाज को हिंसक वकीलों से बचाकर निकालने की कोशिश करते हुए दिख रहे है।

दिल्ली पुलिस की नार्थ डीसीपी ने आरोप लगाया है की उनके साथ भी मारपीट हुई। उन्होंने आरोप लगाया है की उनकी सर्विस रिवाल्वर को भी छीन लिया गया। बता दें की डीसीपी मोनिका की सर्विस रिवाल्वर तभी से गायब है। पुलिस के प्रवक्ता अनिल मित्तल ने बयान दिया है की महिला पुलिस अधिकारी के बयान को एफआईआर में दर्ज किया जाएगा।

तीस हजारी कोर्ट में हुई दिल्ली पुलिस और वकीलों की झड़प का CCTV Video आया सामने

डीसीपी नार्थ मोनिका भारद्वाज से मारपीट का वीडियो सामने आने के बाद महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा, ‘मैं इसकी निंदा करती हूं. इस मामले का स्वत: संज्ञान ले रही हूं और बार काउंसिल के साथ दिल्ली के पुलिस कमिश्नर को लिखूंगी.’

आपको बता दें कि बीते शनिवार को तीस हजारी कोर्ट परिसर में वकीलों औऱ पुलिसकर्मियों के बीच पार्किंग को लेकर विवाद शुरु हुआ. देखते ही देखते यह हिंसक हो गया. वकीलों और पुलिस की हिंसा में करीब 21 पुलिसकर्मी घायल हुए. कुछ वकीलों को भी चोट लगी. इस पूरे मामले को लेकर सैकड़ों पुलिसकर्मियों ने पुलिस मुख्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन किया और उनकी सुरक्षा में नाकाम रहने पर वरिष्ठ अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here