High Alert! नावों में दिखे आईएसआईएस के 15 आतंकवादी, केरल पर बड़ा...

High Alert! नावों में दिखे आईएसआईएस के 15 आतंकवादी, केरल पर बड़ा खतरा

0
SHARE

High Alert! नावों में दिखे आईएसआईएस के 15 आतंकवादी, केरल पर बड़ा खतरा :- इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) के संदिग्ध 15 आतंकवादियों नौकाओं पर सवार होकर श्रीलंका से लक्षद्वीप की तरफ आने की ख़ुफ़िया इनपुट मिलने के बाद केरल के तट पर हाई अलर्ट जारी कर किया गया है| पुलिस विभाग में उच्च पदस्थ के सूत्रों से पता चला है की तटीय इलाकों के सभी थानों और तटीय जिला प्रमुखों को इस बारे में अलर्ट कर दिया गया है| ख़ुफ़िया इनपुट के बाद भारतीय कोस्‍ट गार्ड ने लक्षद्वीप व मिनिकॉय द्वीप के आसपास और श्रीलंका सीमा पर समुद्री जहाजों और खोजी विमानों को तैनात कर दिया है।

पुलिस के एक शीर्ष सूत्र ने बताया, ‘इस तरह के अलर्ट आम हैं, लेकिन इस बार हमारे पास संख्या को लेकर खास सूचना है। ऐसी किसी भी संदिग्ध नौका के दिखने की स्थिति में हमने तटीय पुलिस थानों और जिला पुलिस प्रमुखों को सतर्क रहने को कहा है।’ बीच तटीय पुलिस विभाग 23 मई से ही हाई अलर्ट पर चल रहा है| इस दिन उन्हें श्रीलंका से सूचना मिली थी|

नावों में दिखे आईएसआईएस के 15 आतंकवादी

तटीय विभाग के सूत्रों ने इस खबर की पुष्टि करते हुए कहा कि- ‘श्रीलंका में हमले की घटना के बाद से हम लोग सतर्क हैं। हमने मछली पकड़ने वाली नौकाओं के मालिकों और समुद्र में जाने वाले अन्य लोगों से किसी भी संदिग्ध गतिविधि को लेकर पूरी तरह से सतर्क रहने को कहा है। बता दें की श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर एक के बाद एक आठ धमाकों से कई लोगों की जान चली गई थी, इस घटना सामने आने के बाद केरल में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया था। एनआईए की जांच में यह खुलासा हुआ था कि आईएसआईएस के आतंकवादी राज्य में हमलों की साजिश रच रहे हैं।

खुफिया एजेंसियो से पता चला है की केरल के कई लोग अब भी आईएसआईएस के संपर्क में है| हाल में इराक और सीरिया से आईएसआईएस का सफाया किया जा चुका है। श्रीलंका में 21 अप्रैल को आठ सिलसिलेवार धमाकों में 250 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी। जिसकी जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली थी| इस घटना ने सभी को हैरानपरेशान कर दिया था|

आतंकी हमलों को लेकर कई बार खुफिया इनपुट आते रहते है, जिन्हे हलके में नहीं लिया जा सकता| भारत के तटीय इलाकों की सुरक्षा में इजाफा कर दिया गया है। किसी भी घटना से निपटने के लिए सुरक्षा एजेंसियो को तैयार रहने को कहा गया है।