भगत सिंह जयंती मैसेज, कोट्स, शायरी, SMS इमेज

भगत सिंह जयंती मैसेज, कोट्स, शायरी, SMS इमेज

0
SHARE

भगत सिंह जयंती मैसेज, कोट्स, शायरी, SMS इमेज: आज भगत की जयंती है और आज उन्हें भारत के लोग अपनी नाम आँखों से याद करते हुए अपने अपने अंदाज में श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे है| भारत सिंह को शहीदे आजम के नाम से भी जाना जाता है| भगत सिंह एक युवा स्वतंत्रता सेनानी थे जो छोटी सी उम्र में ही देश के लिए शहीद हो गए थे| भगत सिंह का जन्म 28 सितंबर 1907 को जिला लायलपुर (अब पाकिस्तान में) के गांव बावली में हुआ था| आज भगत सिंह की 111वीं जयंती पर आप भगत सिंह से जुड़े मैसेज, कोट्स, शायरी, एसएमएस, इमेज, व्हाट्सप्प स्टेटस, पिक्चर आदि अपने दोस्तों के साथ शेयर कर, भगत सिंह जयंती के बारे में अपने दोस्तों को बताए|

भगत सिंह जयंती मैसेज, कोट्स, शायरी, SMS इमेज

भगत सिंह जयंती मैसेज, SMS

भारत की आजादी में योगदान देने वाले भगत सिंह के जज्बे और हिम्मत से अंग्रेजी हुकुमत चरमरा गई थी और भारत के लोगों में उन्होंने अग्रेजों से लड़ने की हिम्मत बांटी| भारत की आजादी के समय भगत सिंह की द्वारा कही गई कई बाते आज भी युवा पीढ़ी में देश भक्ति की भावना जगाने में कारगर है| भगत सिंह से जुड़े अनमोल विचार आप यहाँ पढ़ सकते है|

मेरा रँग दे बसन्ती चोला, मेरा रँग दे;
मेरा रँग दे बसन्ती चोला। माय रँग दे बसन्ती चोला।।

********

Bhagat Singh Jaynati SMS

यदि बहरों को सुनना है तो आवाज को बहुत जोरदार होना होगा. जब हमने बम गिराया तो हमारा धेय्य किसी को मरना नही था. हमने अंग्रेजी हुकूमत पर बम गिराया था. अंग्रेजी को भारत छोड़ना चाहिए और उसे आजाद करना चाहिये – भगत सिंह विचार

*******

Bhagat Singh Jaynati Messages

जिन्दगी तो अपने दम पर ही जी जाती है….
दुसरो के कन्धों पर तो सिर्फ जनाजे उठाये जाते हैं – भगत सिंह के विचार

******

जरूरी नहीं थी की क्रांति में अभिशप्त संघर्ष शामिल हो.
यह बस और पिस्तौल का पंथ नहीं था – भगत सिंह कोट्स

भगत सिंह जयंती मैसेज, कोट्स, शायरी, SMS इमेज

भगत सिंह जयंती कोट्स

भगत सिंह अपने बचपन के दिनों से ही देश की आजादी का ख्वाब देखने लगे थे| एक बार जब वे खेतों में मौजूद थे तब उनके पिता ने वहा आकर कहा की भगत खेतों में क्या कर रहे हो? तो उन्होंने कहा की मैं खेत में ‘बंदूकें बो रहा हूं, ताकि देश से अंग्रेजों को भगा सकू| भगत सिंह कई बार अपने दोस्तों से कहा करते थे की ‘जिंदगी अपने दम पर जी जाती है, दूसरों के कंधों पर तो सिर्फ जनाजे उठते हैं।’

शहीद दिवस कोट्स, मैसेज, शायरी, एसएमएस, व्हाट्सऐप स्टेटस, फोटो

“जिंदगी तो सिर्फ अपने कंधों पर जी जाती है, दूसरों के कंधे पर तो सिर्फ जनाजे उठाए जाते हैं।“ ~ भगत सिंह

“मेरा धर्म देश की सेवा करना है।”~ भगत सिंह

“प्रेमी, पागल और कवि एक ही चीज से बने होते हैं।“ ~ भगत सिंह

“देशभक्तों को अक्सर लोग पागल कहते हैं।“ ~ भगत सिंह

Bhagat Singh Quotes

“सूर्य विश्व में हर किसी देश पर उज्ज्वल हो कर गुजरता है परन्तु उस समय ऐसा कोई देश नहीं होगा जो भारत देश केसामान इतना स्वतंत्र, इतना खुशहाल, इतना प्यारा हो।” ~ भगत सिंह

“राख का हर एक कण मेरी गर्मी से गतिमान है। मैं एक ऐसा पागल हूं जो जेल में भी आजाद है।“ ~ भगत सिंह

भगत सिंह जयंती मैसेज, कोट्स, शायरी, SMS इमेज

भगत सिंह जयंती शायरी

शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले,
वतन पे मर मिटनेवालों का बाकी यही निशां होगा!!
********
ऐ मेरे वतन के लोगों, तुम खूब लगा लो नारा
ये शुभ दिन हैं हम सब का, लहरा लो तिरंगा प्यारा…..
********
Bhagat Singh Jayanti Shayari
मुझे तन चाहिए , ना धन चाहिए
बस अमन से भरा यह वतन चाहिए
जब तक जिन्दा रहूं,इस मातृ-भूमि के लिए
और जब
मरू तो तिरंगा कफ़न चाहिये
* जय-हिन्द *
**********
 “लिख रहा हूं मै अजांम जिसका कल आगाज आयेगा,
मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा,
**********
इतिहास में गूँजता एक नाम हैं भगतसिंह
शेर की दहाड़ सा जश था जिसमे वे थे भगतसिंह
छोटी सी उम्र में देश के लिए शहीद हुए जवान थे भगतसिंह
आज भी जो
“रोंगटे खड़े करदे ऐसे विचारो के धनि थे भगत सिंह

भगत सिंह जयंती मैसेज, कोट्स, शायरी, SMS इमेज

भगत सिंह जयंती 2018 इमेज

भगत सिंह जयंती मैसेज, कोट्स, शायरी, SMS इमेज भगत सिंह जयंती मैसेज, कोट्स, शायरी, SMS इमेज

Bhagat Singh hd Images

भगत सिंह जयंती मैसेज, कोट्स, शायरी, SMS इमेज भगत सिंह जयंती मैसेज, कोट्स, शायरी, SMS इमेज

23 वर्ष की छोटी सी उम्र में भगत सिंह को लाहौर षड़यंत्र के आरोप में सेंट्रल जेल में 23 मार्च 1931 की सुबह ब्रिटिश हुकूमत के द्वारा फांसी दें दी गई| भगत सिंह को देश उनके क्रन्तिकारी विचारों की वजह से जानते है| अपने जीवन के छोटे से सफर में भी उन्होंने करोड़ो लोगों के दिलों पर राज किया और आज भी देश उन्ही शहादत को भूला नहीं है| आज भगत सिंह की १११वीं जयंती पर हर कोई उन्हें याद करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है|