Home टेक सहारा इंडिया परिवार की सुर्ख़ियों में वापसी, इलेक्ट्रिक वाहन क्षेत्र में किया...

सहारा इंडिया परिवार की सुर्ख़ियों में वापसी, इलेक्ट्रिक वाहन क्षेत्र में किया पदार्पण

17
0

सुब्रत रॉय के नेतृत्व वाले सहारा इंडिया परिवार ने हाल ही में इलेक्ट्रिक वाहन बाजार में
पदार्पण के साथ सुर्खियों में वापसी की है। लखनऊ स्थित समूह ने मंगलवार को अपनी नई कंपनी ‘सहारा इवॉल्स’ की शुरुआत की घोषणा की।

समूह ने उन्नत संबद्ध सेवाओं के साथ इलेक्ट्रिक वाहनों की एक विस्तृत श्रृंखला की पेशकश करने की योजना बनाई है। बाइक, स्कूटर, ई-रिक्शा और 3-व्हीलर कार्गो वाहन, चार्जिंग स्टेशन और ईवी बैटरी को सहारा इवॉल्स के ब्रांड नाम के तहत उपलब्ध कराया जाएगा।

सहारा इंडिया परिवर बैटरी चार्जिंग और बैटरी स्वैपिंग स्टेशनों के नेटवर्क को पेश करने के लिए भी उत्सुक है। समूह का कहना है कि यह पहले चरण में देश के टियर 2 और टियर 3 शहरों में चरणबद्ध तरीके से मौजूदा वित्तीय वर्ष के अंत में अपना विस्तार करेगा।

लॉन्च इवेंट के दौरान, सहाराश्री ’सुब्रत रॉय सहारा ने कहा,“ हमें पहली बार, भारत में
इलेक्ट्रिक वाहनों का एक पूरा पारिस्थितिकी तंत्र पेश करने पर गर्व है। परिवहन की सतत और पर्यावरण के अनुकूल तरीके समय की जरूरत के साथ-साथ हमारी आने वाली पीढ़ियों के लाभ के लिए भी हैं। ”

उन्होंने कहा, “वायु प्रदूषण की स्थिति मुख्य रूप से जीवाश्म ईंधन से चलने वाले वाहनों के प्रसार के कारण है, जो वायुमंडल में जहरीले धुएं का उत्सर्जन करते हैं । यह एक मूक किन्तु आज पृथ्वी पर जीवन के लिए सबसे बड़ा खतरा है।”

सहारा इंडिया परिवर के संस्थापक ने कहा, “यह एक गंभीर सच्चाई है कि वायु प्रदूषण हमें व्यक्तिगत रूप से और काफी प्रतिकूल तरीके से प्रभावित कर रहा है। अध्ययन से पता चलता है कि भारत में हर 8 में से एक मौत वायु प्रदूषण के कारण होती है। इसके अलावा, कच्चे तेल के आयात से हमारे देश की अर्थव्यवस्था पर भारी बोझ पड़ता है। इस धन का उपयोग हमारी सरकार द्वारा स्वास्थ्य और शिक्षा जैसे जन कल्याण के लिए किया जा सकता है। ”

कंपनी की वेबसाइट में कहा गया है, ”एक प्रतिस्पर्धी उत्पाद को विकसित करने और उसे पेश करने के क्षेत्र का अनुभव उपार्जित करने के लिए, सहारा इवॉल्स का उद्देश्य श्रेणी में बाजार का अग्रणी बनना है, जिसका देश भर में विशेष बिक्री और सेवा आउटलेट का एक मजबूत नेटवर्क होगा।”

सहारा इवॉल्स की योजना अगले वित्तीय वर्ष के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ टियर 1 शहरों में अपने परिचालन का विस्तार करने की है।