अगले 48 घंटे दुनियाभर में बंद हो सकती है इंटरनेट सेवा, ऑनलाइन...

अगले 48 घंटे दुनियाभर में बंद हो सकती है इंटरनेट सेवा, ऑनलाइन ट्रांजक्शन करने से बचे

0
SHARE

अगले 48 घंटे दुनियाभर में बंद हो सकती है इंटरनेट सेवा, ऑनलाइन ट्रांजक्शन करने से बचे: इंटरनेट यूजर के लिए अगले 48 घंटे यानि की अगले दो दिन मुश्किल भरें रहने की संभावना है| ऐसी खबर है की दुनियाभर के देशों में अगले दो दिनों में इंटरनेट सेवा पूरी तरह से बाधित रह सकती है| न्यूज़ एजेंसी Russia Today की खबर के अनुसार इंटरनेट यूजर को आने वाले 48 घंटो में इंटरनेट की सेवा से दो चार होना पड़ सकता है| दुनियाभर में इंटरनेट सेवा बंद रहने पीछे वजह मेन डोमेन सर्वर और इससे जुड़ा नेटवर्क इंफ्रास्ट्रक्चर कुछ समय के लिए बंद रहना है|

अगले 48 घंटे दुनियाभर में बंद हो सकती है इंटरनेट सेवा, ऑनलाइन ट्रांजक्शन करने से बचे

खबर के मुताबिक ‘द इंटरनेट कॉरपोरेशन ऑफ असाइन्ड एंड नंबर्स’ (ICANN) इस अवधि के दौरान मेंटेनेंस से जुड़ा काम करेगी| ICANN क्रिप्टोग्राफिक की (key) को बदलेगी, जो कि इंटरनेट की एड्रेस बुक या डोमेन नेम सिस्टम (DNS) को प्रोटेक्ट यानि की करती है|

‘द इंटरनेट कॉरपोरेशन ऑफ असाइन्ड एंड नंबर्स’ (ICANN) ने जानकारी दी कि साइबर अटैक की बढ़ती हुई घटनाओं को ध्यान में रखते हुए ऐसा करना भविष्य की जरुरत बन गया है| कम्युनिकेशंस रेगुलेटरी अथॉरिटी (CRA) ने कहा है कि एक सुरक्षित, स्थिर और लचीला DNS सुनिश्चित करने के लिए ग्लोबल इंटरनेट शटडाउन करना जरुरी बन गया है|

CRA ने बताया की, ‘अगर इंटरनेट यूजर्स के नेटवर्क ऑपरेटर्स या इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स (ISPs) इस बदलाव के लिए तैयार नहीं हैं तो इंटरनेट की सेवाएं बाधित हो सकती हैं| हालांकि, उचित सिस्टम सिक्योरिटी एक्सटेंशन एनेबल करके इस परेशानी से बचा जा सकता है|

इस दौरान इंटरनेट यूजर्स को अगले 48 घंटे के दौरान वेब पेज एक्सेस करने या कोई ऑनलाइन ट्रांजेक्शंस करने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है| इसके अलावा, अगर यूजर पुराना ISP का इस्तेमाल करते हैं तो उन्हें ग्लोबल नेटवर्क एक्सेस करने में परेशानी होगी|

इंटरनेट बंद होने पर ये तरीका अपनाए यूजर

अगर आप किसी वेबसाइट को ओपन करने में परेशानी का सामना कर रहे है तो राउटर को रिस्टार्ट करें| ऐसा करने से ये सुनिश्चित होगा की इसकी पहुँच अपने इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के द्वारा अपडेट किये गए DNS डेटा तक है| अगर इसके बाद भी वेबसाइट्स और वेब पेज नहीं खुलते हैं तो इसकी वजह यह हो सकती है कि आपकी इंटरनेट कंपनी अब भी पुराने DNS का इस्तेमाल कर रही हो|