सेना को सम्मान देने के लिए टीम इंडिया ने तीसरे वनडे में...

सेना को सम्मान देने के लिए टीम इंडिया ने तीसरे वनडे में पहनी स्पेशल कैप, मैच फीस राष्ट्रीय रक्षा कोष में देने की घोषणा

0
SHARE

सेना को सम्मान देने के लिए टीम इंडिया ने तीसरे वनडे में पहनी स्पेशल कैप, मैच फीस राष्ट्रीय रक्षा कोष में देने की घोषणा: पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवानों के प्रति सम्मान व्यक्त करने के लिए टीम इंडिया ने शुक्रवार 8 मार्च को ऑस्ट्रेलिया के साथ होने रहे मैच में भारतीय सेना की कैप पहनकर मैच खेल रही है| आज के मैच की फीस क्रिकेटर राष्ट्रिय रक्षा कोष में देंगे| तीसरे वनडे मैच के टॉस के दौरान कप्तान विराट कोहली इंडियन आर्मी जैसी कैप पहनकर मैदान पर आए थे जिसपर बीसीसीआई का लोगो लगा था|

सेना को सम्मान देने के लिए टीम इंडिया ने तीसरे वनडे में पहनी स्पेशल कैप, मैच फीस राष्ट्रीय रक्षा कोष में देने की घोषणा

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने सभी से राष्ट्रिय रक्षा कोष में योगदान देने की अपील ताकि देश की रक्षा में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवानों के परिवार की मदद हो सके| विराट ने कहा की यह खास कैप है, यह कैप सेना के प्रति सम्मानसूचक है| उन्होंने कहा की हम इस मैच की फीस राष्ट्रीय रक्षा कोष में दे रहे है| उन्होंने सभी देशवासियों से इसमें योगदान करने और सैनिकों के प्रति सम्मान की भावना व्यक्त करने की अपील की|

भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद् रैंक से सम्मानित टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपने साथियों को यह कैप सौंपी और पल का वीडियो बीसीसीआई ने अपने ट्विटर हैंडल पर भी डाला है| बता दें की वनडे मैच में खेलने वाले हर खिलाड़ी को 8 लाख रूपये की राशि दी जाती है और रिज़र्व खिलाड़ी के तौर पर टीम से जुड़े अन्य प्लेयर्स को इसकी आधी राशि मिलती है|

ये भी पढ़े- IPL 2019 Opening Ceremony: इस बार नहीं होगी ओपनिंग सेरेमनी, शहीद जवानों के परिजनों को दी जाएगी IPL की उद्घाटन राशि

पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के करीब 40 जवान शहीद हो गए थे| भारत की सुरक्षा में लगे जवानों पर यह काफी बड़ा हमला था जिसमें काफी बड़ी संख्या में जवान शहीद हुए थे| जवानों की शहादत के बाद चारों तरफ से उनके परिवार की सहायता के लिए मदद के लिए लोग आगे आए है| इससे पहले बीसीसीआई ने इस बार के आईपीएल की ओपनिंग सेरेमनी के बजट की राशि शहीद के परिवारों को देने की घोषणा की थी|