कल के मैच में अंपायरों से बहस करना धोनी को पड़ा भारी,...

कल के मैच में अंपायरों से बहस करना धोनी को पड़ा भारी, लगा इतना जुर्माना

0
SHARE

कल के मैच में अंपायरों से बहस करना धोनी को पड़ा भारी, लगा इतना जुर्माना: आईपीएल में कल खेले गए चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच मैच के आखरी ओवर में चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और अंपायरों के बीच झड़प हो गई, इस झड़प का महेंद्र सिंह धोनी को बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ा है| राजस्थान और चेन्नई के बीच जयपुर में हुए इस मैच में रोमांच अपने चरम पर था| मैच में अंतिम समय में इतना रोमांच शायद ही इस सीजन के अब तक खेले गए मैचों में देखने को मिला हो| लेकिन मैच में अंतिम ओवर में नो बॉल को लेकर ऐसी असमंजस की स्तिथि बनी को धोनी और अंपायरों के बीच विवाद हो गया|

कल के मैच में अंपायरों से बहस करना धोनी को पड़ा भारी, लगा इतना जुर्माना

दरअसल हुआ ये था की बेन स्‍टोक्‍स ने कमर से ऊपर हाइट की नो बॉल डाली, जहां अंपायर ने नो बॉल का सिग्‍नल दिया तो स्‍क्‍वायर लेग अंपायर ब्रूस ऑक्‍सनफोर्ड ने इसे सही गेंद ठहराया। क्रीज पर मौजूद रवींद्र जडेजा और मिचेल सैंटनर ने मैदानी अंपायरों से बातचीत करके इसे नो बॉल करार देने मांग की| कैप्टेन कूल कहे जाने वाले धोनी ने कल के मैच में अपना आपा खो दिया और मैदान पर अंपायरों से बहस करने के लिए आ गए| कुछ समय तक धोनी और अंपायरों के बीच झड़प हुई लेकिन अंपायरों ने अपना फैसला नहीं बदला| सैंटनर ने आखिरी गेंद पर छक्‍का जमाकर चेन्‍नई की जीत पर मुहर लगाई और एमएस धोनी को बेहतरीन अर्धशतकीय पारी खेलने के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। हालांकि, धोनी अपनी पारी के दौरान संघर्ष करते दिखे और उन्‍होंने मैदान पर ही अपना थोड़ा उपचार कराया।

मैच के पूरा होने के बाद आईपीएल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा की धोनी ने अपनी गलती को मन लिया है| उन्होंने माना की उन्होंने आचार संहिता का उल्‍लंघन किया है। प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक, ‘चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के कप्‍तान एमएस धोनी पर आईपीएल आचार संहिता के उल्‍लंघन के कारण मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया है। उन्‍होंने जयपुर में राजस्‍थान रॉयल्‍स के खिलाफ आचार संहिता का उल्‍लंघन किया। धोनी ने आईपीएल आचार संहिता के लेवल 2 ऑफेंस 2.20 किया और इसे स्‍वीकार किया।’