जानिए! बाँझपन के इन 7 लक्षणों को जिसकी वजह से कई महिलाएं...

जानिए! बाँझपन के इन 7 लक्षणों को जिसकी वजह से कई महिलाएं नहीं बन पाती माँ

0
SHARE

जानिए! बाँझपन के इन 7 लक्षणों को जिसकी वजह से कई महिलाएं नहीं बन पाती माँ: कई महिलाओं को माँ बनने में काफी परेशानी होती है| माँ बनने के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीज है पीरियड्स का होना| लेकिन कुछ महिलाओं को पीरियड्स होने के बावजूद गर्भ धारण करने में खासी समस्या होती है| इस परेशानी को अंग्रेजी में फीमेल इंफर्टिलिटी और हिंदी भाषा में बांझपन के नाम से जाना जाता है| यह बाँझपन कोई एक कारण नहीं है| यह खाने से जुड़ा रोग या एन्‍डोमीट्रीओसिस के कारण हो सकता है|

जानिए! बाँझपन के इन 7 लक्षणों को जिसकी वजह से कई महिलाएं नहीं बन पाती माँ

आप इस परेशानी के शुरूआती लक्षणों को ध्यान से समझकर इस परेशानी से निजात पा सकते है| आप जितनी जल्दी इसके लक्षणों को पहचानेगी उतनी ही जल्दी आप इस परेशानी से छुटकारा भी पा सकेंगी| आइए पढ़ते है बाँझपन से जुड़े लक्षणों को-

1. पीरियड्स की समस्या

बार-बार पीरियड्स, पीरियड्स के समय दर्द या पीरियड्स ना होना, अगर आपको इन तीनों में से कोई परेशानी है तो यह फीमेल इंफर्टिलिटी या बाँझपन की समस्या हो सकती है| कई लड़कियों को समय पर पीरियड्स नहीं होते है, तो वही कई लड़कियों को पीरियड्स के दौरान काफी दर्द होता है| इन दोनों ही स्थितियों में बाँझपन का खतरा बढ़ जाता है| अगर आपको ऐसी कोई परेशानी हो रही है तो तुरंत डॉक्टर के पास जाए और उन्हें इसके बारे में बताएं|

2. गर्भाशय से खून का निकलना

पीरियड्स के दिनों के बिना भी गर्भाशय से थोड़ा बहुत खून का निकलना भी बाँझपन का इशारा हो सकता है| इस तरह की ब्लीडिंग को फाइब्रॉएड्स कहा जाता है| यह एक तरह का ट्यूमर होता है| यह तब होता है जब मसल्स में टिशू के अधिक बन जाते है| इस परेशानी के बावजूद महिलाएं गर्भ धारण कर भी ले तो भी इस ट्यूमर के कारण मिसकैरेज का काफी खतरा बना रहता है| कई मामलों में इसका इलाज सर्जरी के द्वारा किया जाता है|

Weight Loss Tips in Hindi: इन तरीकों से कम करे अपने मोटापे को

3. यौन संबंध के दौरान दर्द

अक्सर यौन संबंध के समय दर्द नहीं होना चाहिए अगर आपको दर्द महसूस होता है तो नजरअंदाज ना करें तुरंत डॉक्टर को बताए| इस वजह से एन्‍डोमीट्रीओसिस या फिर बॉवेल मूवमेंट भी हो सकती है|

4. डिप्रेशन या नींद ना आना

एन्‍डोमीट्रीओसिस में पीरियड्स के दौरान अगर आपको नींद आने में परेशानी की शिकायत है तो यह संभव है की इससे आपको चिंता से भी गुजरना पड़ता हो| ऐसी स्तिथि में डॉक्टर से पास जाए और उनके इसके बारे में बताएं| यह बाँझपन का लक्षण हो सकता है|

5. चेहरे पर बाल का बढ़ना

शरीर में टेस्टोस्टेरोन बढ़ने के कारण चेहरे पर बाल भी आ सकते है| मुख्य तौर पर ऊपर वाले होठ पर और थुड़ी पर| छाती और पेट पर भी बाल नजर आ सकते है| सिर के बाल पतले होने की परेशानी भी हो सकती है| इस प्रकार के बदलाव शरीर में सेक्स हार्मोन यानी टेस्टोस्टेरोन में अव्यवस्था के की वजह हो सकते है| ऐसे लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से मिले|

देश में दवाओं की कीमतें तय कर सकती है केंद्र सरकार

6. शरीर के वज़न का अचानक बढ़ना

कोई भी महिला अपने आपको जरुरत से अधिक मोटा नहीं देख सकती, लेकिन शरीर के वज़न में बदलाव कई वजह से आते है| खान-पान में बदलाव और व्यायाम के करने के बाद भी अगर आपके वज़न में कमी नहीं आए तो यह फीमेल इंफर्टिलिटीकी परेशानी हो सकती है|

7. यौन संबंध में मन नहीं लगना

यौन संबंध में मन नहीं लगने का सीधा इशारा बाँझपन नहीं है, लेकिन इन दोनों में तालमेल है| लो लिबिडो (कामेच्छा में कमी) की वजह से डिप्रेशन होता है, डिप्रेशन से स्ट्रेस और सेक्स के दौरान (एन्‍डोमीट्रीओसिस के कारण) दर्द होता है| इस प्रकार की परेशानी होने पर डॉक्टर से मिले|