Home सुर्खियां GST: रोज़ाना इस्तेमाल की 200 चीजें हो सकती है आज सस्ती

GST: रोज़ाना इस्तेमाल की 200 चीजें हो सकती है आज सस्ती

39
0

गुवाहाटी में चल रही जीएसटी काउंसिल की दो दिवसीय बैठक का आज दूसरा दिन है और मीटिंग में लिए गए फैसलो के बारे में आज शुक्रवार को औपचारिक रूप से फैसला आना है| जीएसटी काउंसिल की पहले दिन हुई बैठक में राज्यों के अधिकारियों ने भाग लिया| बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने बैठक में जाने से पहले मीडिया से बात करते हुए रोजाना इस्तेमाल में आने वाली तक़रीबन 200 चीजों पर टैक्स रेट 28% से घटाकर 18% होने की सम्भावना है।सुशील मोदी जीएसटी काउंसिल के सदस्य भी है| सरकार ने जीएसटी नेटवर्क में सुधार के लिए एक समिति गठन किआ था जिसके अध्यक्ष सुशील मोदी हैं। बता दे की यह जीएसटी काउंसिल की 23वीं बैठक है। इसमें केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली समेत 24 राज्यों के वित्त मंत्री या जीएसटी के प्रभारी मंत्री भी हिस्सा ले रहे है|

GST: रोज़ाना इस्तेमाल की 200 चीजें हो सकती है आज सस्ती

GST स्लेब में कटौती से आम आदमी को मिल सकती है बड़ी राहत
28% टैक्स स्लैब की 80% चीज़ें सस्ती हो सकती हैं
28% टैक्स स्लैब में अभी 227 आइटम
80% आइटम 12-18% के टैक्स स्लैब में आ सकते हैं
मेकअप, इलेक्ट्रिक बल्ब पर टैक्स घट सकता है
रेस्टोरेंट में खाना भी सस्ता हो सकता है

जीएसटी काउंसिल कुछ ये बड़े फैसले भी ले सकती है आज
बेनामी संपत्ति पर ऐक्शन के खाके पर विचार
रीयल एस्टेट को जीएसटी के दायरे में लाने पर विचार
रीयल एस्टेट के दायरे में आने से घर ख़रीदना सस्ता
टैक्स स्लैब घटाने पर फ़ैसला
कंपोजिशन स्कीम की सीमा 1.5 करोड़ हो सकती है

क्या बोले सुशील मोदी जाने
एचएसएन कोड, इनवॉयस मैचिंग और रिटर्न फाइलिंग से जुड़े नियमों को आसान करने पर सुझाव देंगे।
जीएसटी में एमआरपी को शामिल करना शामिल करना, तिमाही रिटर्न फाइलिंग, रिटर्न में देरी पर जुर्माना 200 रुपए रोज से घटाकर 50 रुपए की मांग करेंगे|
बतादे के की अभी कुछ कारोबारी एमआरपी के ऊपर जीएसटी ले रहे हैं।
सूत्रों के अनुसार असम के वित्त मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा की अध्यक्षता वाले मंत्री समूह (ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स) की सिफारिशों पर भी विचार विमर्श किआ जा सकता है।
ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स ने एसी रेस्तरां पर टैक्स 18% से घटाकर 12% करने की मांग की है|
सभी होटलो में 7,500 रुपए से ज्यादा टैरिफ पर 18% GST लगाने का सुझावदिया गया|
होटल और रेस्तरां फेडरेशन के प्रेसिडेंट गिरीश ओबेराय और रिप्रेजेंटेटिव्ज ने गुवाहाटी में काउंसिल के मेंबरों से मुलाकात की| उन्होंने बताया की सभी कैटेगरी के रेस्तरां पर 12% टैक्स लगाने और इनपुट टैक्स क्रेडिट जारी रखने का सुझाव दिए गए|
ओबेराय ने कहा कि लक्जरी होटलों पर लगने वाले 28% टैक्स को 18% किआ जाना चाहिए|

किन चीजों पर टैक्स 28% से घटाकर 18% करने का फैसला किआ जा सकता है?
सैनिटरी के सामान, सूटकेस, वॉल पेपर, प्लाईवुड, स्टेशनरी सामान, घड़ियां, खेल के सामान, शैंपू, हैंडमेड फर्नीचर, इलेक्ट्रिक स्विच, प्लास्टिक गुड्स।

कांग्रेस का आरोप गुजरात के कारोबारी नाराज़ है इसी लिए सरकार ने ये फैसला किआ है| जीएसटी काउंसिल की बैठक स्थल के बाहर कांग्रेस के नेताओ ने प्रदर्शन किया। पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत बादल, कर्नाटक के कृषि मंत्री केबी गौड़ा और पुडुुचेरी के मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा की “पहले जब केंद्र से कहा गया कि ज्यादा जीएसटी रेट से आम लोगों और छोटे कारोबारियों पर बोझ बढ़ेगा, तो सरकार ने उनकी बातें नहीं सुनी। अब जब गुजरात के चुनाव नजदीक है और गुजरात के छोटे कारोबारी जो सरकार से नाराज़ है उन्हें लुभाने के लिए सरकार टैक्स घटाने के लिए राजी हो होगी है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here