धनतेरस की पूजा विधि | Dhanteras Puja Vidhi in Hindi

धनतेरस की पूजा विधि | Dhanteras Puja Vidhi in Hindi

0
SHARE

धनतेरस की पूजा विधि | Dhanteras Puja Vidhi in Hindi: आज देशभर में बड़ी ही धूम-धाम से धनतेरस का त्यौहार मनाया जा रहा है| धनतेरस की खरीददारी के लिए देश के सभी बाजार सज चुके है और लोगों की जबरदस्त भीड़ बाजारों में धनतेरस के दिन नई चीजें खरीदने के लिए पहुँच रही है| धनतेरस पर माँ लक्ष्मी, भगवान गणेश, कुबेर और धनवंतरी की पूजा अर्चना की जाती है| क्या आप जानते है की धनतेरस की पूजा विधि क्या है? सही तरीके से धनतेरस पर पूजा करने से आपकी धन-धन संपदा में वृद्धि होने की संभावना बढ़ जाती है| तो आइए और जानिएड धनतेरस पूजा विधि के बारे में|

धनतेरस की पूजा विधि | Dhanteras Puja Vidhi in Hindi

धनतेरस की पूजा विधि

धनतेरस पर माँ लक्ष्मी, कुबरे को सही पूजा विधि से प्रसन्न करके आप इस धनतेरस पर उनका आशीर्वाद पा सकते है| धनतेरस की सही पूजा विधि क्या है| इसके बारे में आप यहाँ इस पोस्ट में जान लीजिए| धनतेरस का त्यौहार हिन्दू धर्म के लोगों के लिए एक विशेष महत्व रखता है| धनतेरस पर श्याम के समय पूजा करने की परंपरा है| ऐसी मान्यता है की धनतेरस पर माता लक्ष्मी, कुबेर और धनवंतरी की पूजा अर्चना करने से धन वर्षा होती है|

धनतेरस का शुभ मुहूर्त | Dhanteras Ka Shubh Muhurat

– सबसे पहले नहाकर साफ वस्त्र पहनें।

– भगवान धन्वंतरि की मूर्ति या चित्र साफ स्थान पर स्थापित करें तथा स्वयं पूर्व दिशा की ओर मुख करके बैठ जाएं।

– उसके बाद भगवान धन्वंतरि का आह्वान इस मंत्र से करें।

सत्यं च येन निरतं रोगं विधूतं,
अन्वेषित च सविधिं आरोग्यमस्य।
गूढं निगूढं औषध्यरूपम्, धन्वन्तरिं च सततं प्रणमामि नित्यं।।

– इसके बाद पूजा स्थल पर आसन देने की भावना से चावल चढ़ाएं। आचमन के लिए जल छोड़ें और भगवान धन्वंतरि को वस्त्र (मौली) चढ़ाएं।

– भगवान धन्वंतरि की मूर्ति या तस्वीर पर अबीर, गुलाल पुष्प, रोली और अन्य सुगंधित चीजें चढ़ाएं।

धनतेरस की शुभकामनाएं संदेश | Dhanteras Ki Shubhkamnaye

– चांदी के बर्तन में खीर का भोग लगाएं। (अगर चांदी का बर्तन न हो तो अन्य किसी बर्तन में भी भोग लगा सकते हैं।)

इसके बाद आचमन के लिए जल छोड़ें। मुख शुद्धि के लिए पान, लौंग, सुपारी चढ़ाएं। शंखपुष्पी, तुलसी, ब्राह्मी आदि पूजनीय औषधियां भी भगवान धन्वंतरि को चढ़ाएं।

इसके बाद रोग नाश की कामना के लिए इस मंत्र का जाप करें-

मंत्र – ऊं रं रूद्र रोग नाशाय धनवंतर्ये फट्।।

फिर भगवान धन्वंतरि को श्रीफल व दक्षिणा चढ़ाएं। पूजा के अंत में कर्पूर आरती करें।

धनतेरस पर पूजा करते समय धनतेरस पूजा मंत्र का भी जाप करें| यहाँ धनतेरस पूजा मंत्र जाप बताया गया है जो आपकी धनतेरस की पूजा को सफल बनाने में कारगर साबित होगा|