विश्वकर्मा जयंती 2018: ये है विश्वकर्मा डे की पूजा विधि और शुभ...

विश्वकर्मा जयंती 2018: ये है विश्वकर्मा डे की पूजा विधि और शुभ मुहूर्त, इन चीजों का करें दान

0
SHARE

विश्वकर्मा जयंती 2018: ये है विश्वकर्मा डे की पूजा विधि और शुभ मुहूर्त, इन चीजों का करें दान इस साल विश्वकर्मा जयंती जिसे विश्वकर्मा डे के रूप में भी जाना है 17 सितंबर को मनाई जाएगी| देशभर में विश्वकर्मा डे का पर्व सोमवार के दिन बड़े ही धूम-धाम से मनाया जाएगा|| विश्वकर्मा डे पर देशभर में लोग इस दिन भगवान विश्वकर्मा जी की पूजा अर्चना के समय मशीनो, औजार को पास में रखते है उनकी भी पूजा करते है| भगवान विश्वकर्मा जी की पूजा अर्चना कर उनसे कारोबार में उनती की मनोकामना पूर्ण करने की दुआ करते है| विश्वकर्मा डे के दिन देशभर में दुकान, कारोबार आदि बंद रहते है| हिन्दू धर्म की मान्यता के अनुसार भगवान विश्वकर्मा को दुनिया का पहला इंजीनियर और वास्तुकार माना जाता है और यही वजह है कि विश्वकर्मा पूजा के दिन उद्योगों बने रखे जाते है| उद्योग जगत के लोग इस दिन को भगवान विश्वकर्मा को समर्पित करते है|

विश्वकर्मा जयंती 2018: जाने कब है विश्कर्मा डे, पूजा विधि, शुभ मुहूर्त, महत्व

विश्वकर्मा जयंती 2018

भगवान विश्‍वकर्मा के जन्‍मदिन को विश्‍वकर्मा पूजा, विश्‍वकर्मा दिवस या विश्‍वकर्मा जयंती के नाम से जाना जाता है| हिन्दू धर्म के लोगों के लिए विश्कर्मा डे का एक विशेष महत्व है| हिन्दू मान्यता के अनुसार भगवान विश्‍वकर्मा ने सृष्टि के रचयिता ब्रह्मा के सातवें धर्मपुत्र के रूप में जन्‍म लिया था| भगवान विश्‍वकर्मा को ‘देवताओं का शिल्‍पकार’, ‘वास्‍तुशास्‍त्र का देवता’, ‘प्रथम इंजीनियर’, ‘देवताओं का इंजीनियर’ और ‘मशीन का देवता’ भी माना जाता है| विष्‍णु पुराण में भगवान विश्‍वकर्मा को ‘देव बढ़ई’ कहा गया है| मानव वीएक्स के लिए शिल्प ज्ञान का होना जरुरी है| शिल्प ज्ञान के देवता विश्कर्मा जी की पूजा करना उन्हें जयंती पर तो बनती है|

हैप्पी गणेश चतुर्थी 2018 विशेस, मैसेज, व्हाट्सप्प स्टेटस, SMS, इमेज

कैसे मनाई जाती है विश्‍वकर्मा जयंती?

विश्वकर्मा डे के दिन लोग अपने घरों, दफ्तरों, फैक्ट्री आदि जगहों पर बड़ी धूम-धाम से पूजा अर्चना करते है और भगवान विश्वकर्मा की आराधना में लीन हो जाते है| विश्वकर्मा डे के दिन उद्योग, मशीन सभी चीजें बंद रखी जाती है|

विश्वकर्मा डे 2018 शुभ मुहूर्त

– संक्रांति समय 07:01 सुबह

विश्वकर्मा डे पूजा विधि

– सबसे पहले स्‍नान अपनी गाड़ी, मोटर या दुकान की मशीनों को साफ कर लें.
– उसके बाद स्‍नान करें.
– घर के मंदिर में बैठकर विष्‍णु जी का ध्‍यान करें और पुष्‍प चढाएं.
– एक कमंडल में पानी लेकर उसमें पुष्‍प डालें.
– अब भगवान विश्‍वकर्मा का ध्‍यान करें.
– अब जमीन पर आठ पंखुड़‍ियों वाला कमल बनाएं.
– अब उस स्‍थान पर सात प्रकार के अनाज रखें.

Ganesh Chaturthi 2018: जाने कब है गणेश चतुर्थी, शुभ मुहूर्त, कैसे करें गणपति की स्थापना

– अनाज पर तांबे या मिट्टी के बर्तन में रखे पानी का छिड़काव करें.
– अब चावल पात्र को समर्पित करते हुए वरुण देव का ध्‍यान करें.
– अब सात प्रकार की मिट्टी, सुपारी और दक्षिणा को कलश में डालकर उसे कपड़े से ढक दें. – अब भगवान विश्‍वकर्मा को फूल चढ़ाकर आशीर्वाद लें.
– अंत में भगवान विश्‍वकर्मा की आरती उतारें.