विश्व

उरी आतंकी हमले के बाद पकिस्तान की मुश्किले अब बढ़ने वाली हैं

उरी आतंकी हमले के बाद पकिस्तान की मुश्किले अब बढ़ने वाली हैंन्यू यॉर्क में हो रही संयुक्त राष्ट्र की जनरल असेंबली पकिस्तान के लीजये काफी नुकसानदेह साबित हो सकती है। हाल ही में उरी में हुए आतंकी हमले में हमारे देश के 17 जवान शहीद हो गए, जिसकी वजह से भारत के हर नागरिक का खून अंदर से खौल रहा है। देश का हर नागरिक बस यही चाहता है की जिस बेरहमी से पाकिस्तानी आतंकियों ने हमारे देश के सैनिकों को मार डाला, भारत भी अब जरा सा भी सोच सिहर न करते हुए पकिस्तान पर हमला कर दे।

united_nations

लेकिन आपको बता दें की पाकिस्तान पर हमला करना भारत के लिए ही महँगा साबित पड़ सकता है। हमने आपको पहले भी बताया था जंग करना कोई आसान बात नहीं है इसके लिए बहु तैरीयां करनी पड़ती हैं और अगर भारत ने जंग छेड़ी तोह अंतर्राष्टीय स्तर पर उसके कई समझौते नष्ट हो सकते हैं, जिसकी वजह से उसे काफी नुक्सान उठाना पद सकता है।

सुषमा स्वराज का कहना है कि भारत संयुक्त राष्ट्र की जनरल असेंबली में इस मुद्दे को जरूर उठाएगा और वे पूरी कोशिश करेंगे की पकिस्तान को आतंकी देश घोषित कर दिया जाये। उनका कहना है की भारत पकिस्तान की इस नापाक हरकत का जवाब जरूर देगा।

हम आपको बता दें की अगर पकिस्तान को आतंकी देश घोषित कर दिया गया तो ऐसे में पकिस्तान पूरी तरह से नष्ट हो जायेगा। क्योंकि किसी भी आतंकी देश घोषित करने का मतलब है कि उस देश से सभी तरह ने समझौतों को नष्ट कर देना इससे पकिस्तान जैसे देशों की आर्थिक स्तिथि बुरी तरह से चकरा जाएगी और फिर देखते ही देखते पकिस्तान एक देश नहीं बल्कि टुकड़ों में बात जायेगा।

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी भारत पकिस्तान के बीच चल रही इस नोक झोक को मद्दे नजर रखते हुए कहा कि पकिस्तान को अपने देश में मौजूद सभी आतंकी ठीकानों का सफाया करना होगा भारत पर हो रहे लगातार आतंकी हमलों को सिर्फ और सिर्फ पकिस्तान की मदद से रोका जा सकता है, साथ ही उन्होंने ये भी कहा की पकिस्तान को अपने देश में आतंकियों को पनाह देना बंद करना होगा।

इन सब कूटनीतिक पैतरे बाजी के बीच, कल उरई सेक्टर से फिर खबर आई थी की फिर से 15 आतंकियों ने घुसपैठ करने की कोशिश की थी लेकिन हमारे देश के बहादुर सैनकों ने 12 आतांकियों को मार गिराया और बाकी के तीन आतंकियों को ढूंढने के लिए सर्च आपरेशन शुरू हो गया है। जिन्हें सेना जल्द ही पकड़ लेगी।