विश्व

US: मेरे देश से निकल जाओ कहकर भारतीय इंजीनियर को गोली मारी! फिर क्या हुआ देखिए!

US: मेरे देश से निकल जाओ कहकर भारतीय इंजीनियर को गोली मारी! फिर क्या हुआ देखिए! :- जातीय आधार को लेकर अमेरिका के कंसास स्थित एक बार में खुलेआम फायरिंग हुई। जिसमे 32 साल के भारतीय इंजीनियर श्रीनिवास कुचीभोतला (32) की मौत हो गई। इस में यह बात सामने आयी है की हमलावर ने गोली मारने से पहले कहा कि मेरे देश से निकल जाओ। इस हमले में कुचीभोतला के एक दोस्त समेत 2 लोग जख्मी हुए। लोकल पुलिस इसे एक नस्ली हमला बता रही है। वहा की पुलिस इस मामले की जाच एफबीआई के साथ मिलकर कर रही है। भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इस घटना पर दुख जताया है।

 

यह घटना 21 फरवरी को ओलेथ के ऑस्टिन बार एंड ग्रिल में हुई। गोली चलाने वाले का नाम एडम पुरिन्टन है। जिसकी उम्र 51 साल है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, गोली चलाने से पहले पुरिन्टन ने कहा- ‘मेरे देश से निकल जाओ।’ पुरिन्टन यूएस नेवी का इम्प्लॉई रह चुका है। उसे अरेस्ट किया जा चुका है। पुरिन्टन घर में अकेला रहता है।

स्टीवन मेंके जो कि ओलेथ पुलिस चीफ है ने कहा कि ये ट्रैजिक है। इसे बिना अक्ल की हिंसा ही कहा जाएगा। जख्मी हुए शख्स का नाम आलोक मदसानी (32) है। ये कुचीभोतला के दोस्त हैं। एक अमेरिकी शख्स इयान ग्रिलट (24) भी गोलीबारी में घायल हुए। मसदानी और ग्रिलट को हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया। दोनों की हालत खतरे से बाहर है।

घटना कैसे हुई?

उस दिन बार में बैठे पुरिन्टन ने काफी शराब पी हुई थी। पुरिंटन ने वहां बैठे दो लोगों पर कमेंट करना शुरू किया। ये दोनों ही भारत के रहने वाले थे। पर पुरिन्टन को लगा कि ये लोग मिडल ईस्ट के रहने वाले हैं। बाद में पुरिन्टन मिसौरी के क्लिंटन में होटल में छिप गया। उसने बताया कि दो मिडल ईस्ट के लोगों को गोली मारी। घटना के 5 घंटे बाद उसे अरेस्ट किया जा सका।

पुरिन्टन पर फर्स्ट डिग्री मर्डर का आरोप है। उसका बॉन्ड 20 लाख डॉलर का है। घटना के बाद ह्यूस्टन स्थित इंडियन काउंसलेट ने दो अफसरों को कंसास भेजा। काउंसलेट ने ट्वीट किया, “काउंसल रवींद्र जोशी और वाइस काउंसल हरपाल सिंह को पीड़ितों की मदद के लिए भेजा है।

श्रीनिवास के बारे –

कुचीभोतला ने 2014 में टेक्सास यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रीकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग की डिग्री ली थी। इसके बाद उन्होंने गार्मिन इंटनेशनल नाम की कंपनी में ज्वाइन किया था। वे कंपनी के एविएशन प्रोग्राम से जुड़े थे। कंपनी ने भी कुचीभोतला की मौत पर संवेदनाएं व्यक्त की हैं। कुचीभोतला हैदराबाद के रहने वाले थे।

भारतीय विदेश मंत्री सुषमा ने ट्वीट कर दुख जताया और कहा कि मैं कंसास में हुई फायरिंग से शॉक्ड हूं, जिसमें श्रीनिवास कुचीभोतला की मौत हो गई। श्रीनिवास के परिवार के साथ हमारी संवेदनाएं हैं।