आपातकाल की 43वीं बरसी पर बोले पीएम मोदी- कभी नहीं भुलाया जा...

आपातकाल की 43वीं बरसी पर बोले पीएम मोदी- कभी नहीं भुलाया जा सकता इसे

0
SHARE

आपातकाल की 43वीं बरसी पर बोले पीएम मोदी- कभी नहीं भुलाया जा सकता इसे: पीएम नरेंद्र मोदी ने मुंबई में बीजेपी कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए आपाताकाल की 43वीं बरसी पर भी निशाना साधा| पीएम मोदी ने इमरजेंसी पर तब निशाना साधा जब वे मुंबई के बिड़ला मतुश्री ऑडिटोरियम में बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे| पीएम ने इमरजेंसी के उन काले दिनों को याद किया और कहा की ये भारत के इतिहास पर एक काला धब्बा है जो कभी नहीं मिट सकता| देश हर एक नागरिक को इन काले दिनों के बारे में मालूम होना चाहिए| हम युवा पीढ़ी को इस घटना के बै में जागरूक करना चाहते है| हम उन्हें यह बताना चाहते है की क्या हुआ था तब?

आपातकाल की 43वीं बरसी पर बोले पीएम मोदी- कभी नहीं भुलाया जा सकता इसे

कोई भी दल और नागरिक यह नहीं हम आपातकाल के लगाने वाली सरकार की आलोचना कर रहे है| हम तो बल्कि देश की युवा पीढ़ी को इसके बारे में जागरूक करना चाहते है|

पीएम ने आगे कहा की किसी ने सोचा भी नहीं था की केवल सत्ता के सुख और परिवार भक्ति के पागलपन में पूरे भारत को जेलखाने में तब्दील कर दिया जाएगा| उस समय हर व्यक्ति में भय का माहौल बन गया था| संविधान का सदुपयोग किया गया था|

भारत और सेशल्स के बीच नौसैनिक अड्डा बनाने को लेकर बनी सहमति

पीएम ने कहा, ‘एक परिवार के लिए संविधान का किस प्रकार से साधन के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है, शायद ही ऐसा उदाहरण कही ओर देखने को मिलेगा।’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘युवाओं को आपातकाल के दौरान क्या हुआ इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। वे नहीं जान पाएंगे कि स्वतंत्रता के बिना कैसे रहना चाहिए।’

पीएम मोदी ने कहा कि जनता जनार्दन ने लोकतंत्र को फिर से जीवित किया। लोकतंत्र का ठप्पा लगाने के लिए चुनाव का ड्रामा किया गया। जेल में बंद नेता मिलकर मैदान में आए थे। मीडिया वाले हम लोगों को डराते है। छोटी बातों पर मीडियावाले हमारा बाल नोचते हैं। उन्होंने कहा कि भारत की मिट्टी में लोकतंत्र की महक है।

पीएम ने कहा की बीजेपी आज काला दिवस लोगों को इस घटना के बारे में जागरूक करने के लिए मना रही है| उन्होने कहा की नई पीढ़ी को आपातकाल के बारे में कुछ भी नहीं पता| उन्हें इस बारे में पता होना चाहिए|