भारत

अब आया ऊँट पहाड़ के नीचे सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर बड़ा खुलासा

अब आया ऊँट पहाड़ के नीचे सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर बड़ा खुलासापाकिस्तान का मनना है की भारतीय पैराकमांडोस ने जो loc पार सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया वो फर्जी है। लेकिन अब जो सबूत सामने आये हैं, उन्हें देख के पकिस्तान सरकार बोलती बंद जाएगी, इंडियन एक्सप्रेस ने loc के पार और उससे सटे हुए गाओं में रहने वाले लोगों एवं अपने सूत्रों से ये पता लगाया की पाकिस्तानी आर्मी आतंकियों की लाशों को ट्रक में लाड कर कहीँ थे।

surgical-strike-l

इंडियन एक्सप्रेस ने दावा किया है कि ”लोगों ने 6 शवों को ट्रक पर लादते देखा। शवों को टीटवाल में लश्कर के कैंप चालहना ले जाया गया। ये इलाका टीटवाल में नीलम नदी के पास है। ” स्थानीय लोगों के हवाले से चश्मदीदों ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि ”भारतीय सर्जिकल स्ट्राइक में 3-4 लोग मारे गए होंगे। बाकी फायरिंग की आवाज सुनकर जंगल में भाग गए। अथमुकम में नीलम जिला अस्पताल जाने वावे चश्मदीदों ने दावा किया है कि जो भी लश्कर के लोग मारे गए उन्हें वहां नहीं बल्कि खुफिया तरीके से कहीं औऱ दफनाया गया। ”

अभी हाल ही में पाकिस्तानी फ़ौज मीडिया रिपोर्टरों को सर्जिकल स्ट्राइक की जगहों पर लेजाकर उन्हें बता रही थी की भारत तो ये दावा कर रहा है की यहाँ पर सर्जिकल स्ट्राइक हुई हैं लेकिन देखीये यहाँ तो ऐसा कुछ भी नहीं है। पाकिस्तानी फ़ौज एवं आर्मी ने इस बात को पूरी तरह से छुपाने की कोशिश की लेकिन वे नाकाम रहे और आज सच दुनिया के सामने है।

प्रत्यक्षदर्शियों ने यह भी बताया है कि चलहाना की मस्जिद में शुक्रवार की नमाज के बाद सर्जिकल स्ट्राइक में मारे गए आतंकवादियों की मौत का बदला लेने का संकल्प भी लिया गया था। लश्कर के लोग वहां जमा हुए और सीमा की रक्षा ना कर पाने के लिए पाकिस्तानी आर्मी को दोषी बताया। उन्होंने कहा कि वे भारत को जल्द इसका ऐसा जवाब देंगे जिसे वो कभी नहीं भूल पाएगा।