आज से महाराष्ट्र में प्लास्टिक के इस्तेमाल पर पूरी तरह से रोक,...

आज से महाराष्ट्र में प्लास्टिक के इस्तेमाल पर पूरी तरह से रोक, इन चीजों के इस्तेमाल पर पाबन्दी नहीं

0
SHARE

आज से महाराष्ट्र में प्लास्टिक के इस्तेमाल पर पूरी तरह से रोक, इन चीजों के इस्तेमाल पर पाबन्दी नहीं: देश हो या फिर विदेश हर जगह प्लास्टिक का इस्तेमाल खूब किया जाता रहा है| लेकिन भारत में अब महाराष्ट्र राज्य में प्रदेश की सरकार ने प्लास्टिक के इस्तेमाल पर पूरी तरह से इस्तेमाल पर 23 जून की मध्य रात्रि से रोक लगा दी है| मुंबई में सरकार के इस फैसले को लागू करवाने के लिए काफी जबरदस्त इंतजाम किए गए है| सरकार ने प्लास्टिक के इस्तेमाल पर रोक के लिए 250 इंस्पेक्टर को इसके लिए तैनात किया है|

आज से महाराष्ट्र में प्लास्टिक के इस्तेमाल पर पूरी तरह से रोक, इन चीजों के इस्तेमाल पर पाबन्दी नहीं

बीएमसी ने वर्ली के एन.एस.सी.आई में एक कार्यक्रम का आयोजन किया है जिसमें लोगों के यह बताया जाएगा की प्लास्टिक के इस्तेमाल के बिना काम कैसे किया जा सकता है| इस कार्यक्रम के उद्घाटन समारोह में राजनीतिक जगत के साथ-साथ बॉलीवुड एक्टर अजय देवगन और एक्ट्रेस काजोल को बुलाया गया है|

यूपी के बुलंदशहर में 13 साल की लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार

अजय देवगन ने लोगों से प्लास्स्टि के खिलाफ चाओ रहे इस अभियान के साथ जुड़ें की अपील की तो वही उनकी पत्नी काजोल ने आने वाली पीढ़ी के लिए प्रदुषण मुक्त जीवन देने की बात कही|

इस प्रदर्शनी में करीब 100 स्टॉलों में कागज के अलग-अलग चीजे पेश की, कपड़ों की तरह-तरह की थैली से लेकर, सुपारी के प्लेट, चम्मच, ग्लास और डब्बों के साथ कागज के स्ट्रा तक उपलब्ध हैं| एक चम्मच तो ऐसा भी था, जिससे खाना खाने के बाद उसे भी खाया जा सकता है| अनाज से बने चम्मच सादे और चोकलेट जैसे अलग-अलग स्वाद में उपलब्ध हैं|

प्लास्टिक पर पाबन्दी पर यह सवाल किया गया की बारिश में इसके बिना कैसे काम चलेगा? तो इसका जवाब है स्टार्च से बनी थैलियां| बायो ग्रीन के सीईओ मोहम्मद सादिक ने बताया कि फल और सब्जियों के स्टार्च से बनी थैलियां वाटर प्रूफ और पर्यावरण के लिए सही है| लेकिन अभी भी कुछ लोगों के सवाल है जिनके जवाब मिलना बाकि है| जैसे की तरल पदार्थ के विक्रेता अपनी वस्तुओँ को कैसे बेचेंगे?

परेशानी जो भी हो लेकिन बात पर्यावरण का है और ऐसे में किसी बात से समझौता नहीं किया सकता है| शिवसेना के नेता आदित्य ठाकरे ने कहा की 23 जून से राज्य में प्लास्टिक किसी भी कीमत में पाबन्दी लागू होगी| प्लास्टिक के इस्तेमाल पर रोक को अमल में लाने के लिए बीएमसी ने 250 इंस्पेक्टर की टीम बनाई है| 24 जून से प्लास्टिक के इस्तेमाल करने वालों पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी|

प्लास्टिक के इस्तेमाल पर पहली बार 5000 रूपये का जुर्माना देना होगा और दूसरी बार पकड़े जाने पर 10 हज़ार रूपये और तीसरी बार पकड़े जाने पर 25 हज़ार रुपयेऔर तीन महीने की सजा का भी प्रावधान किया गया है| सजा के प्रावधान से साफ जाहिर है की सरकार प्लास्टिक के इस्तेमाल पर रोक को लेकर काफी गंभीर है|

इनके इस्तेमाल पर पाबंदी :

सभी तरह की प्लास्टिक की थैलियां
प्लास्टिक के ग्लास, कप , कटोरी प्लेट, चम्मच
थर्मोकोल की प्लेट और ग्लास डेकोरेशन के लिए भी इस्तेमाल नहीं की जा सकती

इस्तेमाल पर पाबंदी नहीं :

अस्पताल में इस्तमाल होने वाले प्लास्टिक के उपकरण, सलाईन, बोतल और दवाईयों के पैकेट.
प्लास्टिक की पेन, दूध, रेनकोट , खेती और नर्सरी के काम में इस्तेमाल होने वाले सामान रखने के लिए
अनाज रखने के लिए भी 50 माइक्रोन से ज्यादा की प्लास्टिक की थैली.
टीवी , फ्रिज ,कंप्यूटर जैसे सामानों को पैक करने के लिए भी प्लास्टिक और थर्मोकोल के इस्तेमाल जारी रहेंगे.
बिस्कुट, चिप्स और नमकीन के मल्टीलेयर प्लास्टिक पाउच, दूध की थैली, आधा लीटर की पानी की बोतल.