जम्मू-कश्मीर में बाढ़ की चेतावनी जारी, खतरे के निशान से ऊपर बह...

जम्मू-कश्मीर में बाढ़ की चेतावनी जारी, खतरे के निशान से ऊपर बह रही है झेलम नदी

0
SHARE

जम्मू-कश्मीर में बाढ़ की चेतावनी जारी, खतरे के निशान से ऊपर बह रही है झेलम नदी: कश्मीर घाटी में लगातार हो रही बारिश से झेलम और इसकी सहायक नदियाँ खतरे के निशान से ऊपर बह रही है| नदियों के बढ़ते जलस्तर के मध्यनजर प्रशासन ने आज शनिवार 30 जुलाई को बाढ़ की चेतावनी भी जारी कर दी है| प्रशासन ने स्कूलों को बंद रखने के आदेश दिया है| बाढ़ के हालत को ध्यान में रखते हुई जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल एनएन वोहरा ने आपातकालीन बैठक बुलाई है| खराब मौसम को देखते हुई अमरनाथ यात्रा पर रोक लगा दी गई है|

जम्मू-कश्मीर में बाढ़ की चेतावनी जारी, खतरे के निशान से ऊपर बह रही है झेलम नदी

श्रीनगर में बाढ़ नियंत्रण कक्ष के एक अधिकारी ने जानकारी दी की राम मुंशी बाग के पास झेलम नदी खतरे के निशान से 21 फुट ऊपर बह रही है| नदियों के लगातार बढ़ते जलस्तर को देखते हुए बाढ़ का अलर्ट जारी कर दिया गया है| सिंचायी एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग के इंजीनियरों और अधिकारियों बाढ़ से निपटने के लिए तैयार रहने के निर्देश दे दिए गए है|

एक प्रवक्ता ने बताया की कश्मीर में लगातार जारी बारिश के बीच राज्यपाल एनएनवोहरा ने सलाहकार बी बी व्यास और अन्य संबंधित विभाग के अधिकारियों के साथ शुक्रवार को बाढ़ से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की| राज्यपाल ने संभागीय आयुक्त (कश्मीर) और सभी उपायुक्तों को नियंत्रण कक्ष स्थापित कर और हेल्प लाइन नंबर आम नागरिकों तक पहुँचाने के निर्देश दिए|

जम्मू में खराब मौसम को देखते हुए आज अमरनाथ यात्रा को रद्द कर दिया गया| सूत्रों से जानकारी मिली है की जम्मू के भगवतीनगर यात्री निवास आधार शिविर से अमरनाथ श्रद्धालुओं के नए जत्थे को यात्रा के लिए अनुमति नहीं दी गई है| न्य जत्थे को अनुमति देने से पहले बारिश की वजह से पहलगाम और बालटाल में फंसे हुए श्रद्धालुओं को निकाला जाएगा|

बता दें की कश्मीत घाटी में बीते तीन दिनों से लगातार बारिश हो रही है| अब हालात बाढ़ के बन गए है| साल 2014 में आई बाढ़ ने जम्मू-कश्मीर में अपना कहर बरपाया था| जिसमें 300 से अधिक लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी थी| मौसम विभाग के अधिकारी ने बताया है की शनिवार यानि की आज मौसम में थोड़ा सुधर आ सकता है|