ऑक्टोपस से जुड़े कुछ रोचक तथ्य|

ऑक्टोपस से जुड़े कुछ रोचक तथ्य|

0
SHARE

Octopus Facts in Hindi: अगर आप से आठ भुजाओं वाले और तीन दिल वाले जीव के बारे में पूछा जाए तो आपके दिमाग में सबसे पहले Octopus का ख्याल आएगा| ऑक्टोपस दुनिया के सभी महासागरो खासकर उष्णकटिबंधीय महासागर में काफी संख्या में मिलते है| ऑक्टोपस अपने आठ भुजाओं के सहारे समुद्र में तैरते है, वे केकड़े , क्रे फिश , लोब्सटर , झींगा आदि जीव का शिकार करते है| बड़े आकर वाले Pacific Octopus छोटे आकर वाले ऑक्टोपस का शिकार करते है| वैज्ञानिकों ने इन्हे जहरीले राक्षस की संज्ञा दी है| आज हम इस पोस्ट में ऑक्टोपस के बारे कुछ रोचक तथ्य और सामान्य जानकारी भी देंगे|

ऑक्टोपस से जुड़े कुछ रोचक तथ्य|
1. समद्र में ऑक्टोपस की 300 प्रजातियाँ है, जो समुद्र के तल से लेकर समुद्र की गहरायियो में पाई जाती है यह रोजाना खाने की तलाश में समुद्र के एक छोर से दूसरे छोर तक आते जाते है

2. ऑक्टोपस अलग-ा;अलग प्रकार के होते है, सबसे अधिक वल्गरिस ऑक्टोपस पाए जाते है| जिनकी लम्बाई 12-36 इंच ओर वजन 3-10 किलोग्राम होता है

3. वुल्फी ऑक्टोपस सबसे छोटा ऑक्टोपस है| | जिसकी लम्बाई एक इंच और वजन एक ग्राम होता है| वही दूसरी और सबसे बड़े आकर के ऑक्टोपस Pacific Octopus होते है, जो 16 फूट लम्बे और तकरीबन 50 किलोग्राम वज़न के होते है|

4. सन 1957 में दक्षिणी कनाड़ा में एक विशाल ऑक्टोपस खोजा गया था| जिसका वज़न 272 किलोग्राम और भुजाये 9.6 मीटर लम्बी थी|

5. ऑक्टोपस के शरीर में तीन दिल, एक दिमाग और उससे जुड़े आठ Ganglion न्यूरोन्स तथा नीला खून इसे दुसरे जीव से अलग बनाते है | इनमे से दो दिल खून की सप्लाई गिल्स में करने का कार्य करते है तो तीसरा दिल खून को बाकी शरीर में प्रवाहित करता है|

6. ऑक्टोपस के शरीर में नीला रक्त पाया जाता है, ऐसा हीमोसायनिन नामक कॉपर-आयरन से काफी मात्रा में प्रोटीन पाए जाने के कारण होता है| समुद्र में काफी गहराई में कम तापमान और ऑक्सीजन का स्तर कम होने पर यह प्रोटीन ऑक्टोपस के शरीर को अच्छी खासी मात्रा में ऑक्सीजन की सप्लाई करने में मदद करता है|

7. ऑक्टोपस तेज दिमाग वाले होते है| ऑक्टोपस में 500 मिलियन यूरोन्स पाए जाते है| ये Ganglion न्यूरोन्स नर्वस सिस्टम में Central Brain और हर हाथ के नीचे होते है जो उनकी हर हरकत को कंट्रोल करते है|

8. ऑक्टोपस किसी भी परेशानी को सॉल्व कर लेने में सक्षम है| वे किसी भी काम को आसानी से सीख लेते है| ऐसा करके वे अपने आप को अपने शिकारियों से बचाते है| आपको ऑक्टोपस पॉल के बारे में तो पता ही होगा, जिसने फूटबाल वर्ल्ड कप 2008 और 2010 के विजेताओं के नामों की घोषणा पहले ही कर दी थी|

9.ऑक्टोपस की भुजाएँ उनके सिर से जुड़ी होती है| जो उसे तैरने में और शिकार करने काफी सहायता करते है|

10. ऑक्टोपस की आठो भुजाओं में दो लाइन में गोल आकार के चूसने वाले शक्तिशाली सकर्स होते है जिसमे लगे संवेदी receptors उन्हें किसी भी चीज को स्पर्श कर पहचानने में मदद करते है | इन सकर्स से ही ऑक्टोपस अपने शिकार को पकड़ते है और मुंह में ले जाते है |

11. ऑक्टोपस की भुजा के कट जाने के एवज में उसी स्थान पर कुछ समय के बाद नई भुजा विकसित हो जाती है|

12. अपनी भुजाओं के सक्शन पॉवर की मदद से ऑक्टोपस बड़ी आसानी से पीछे की और या Backward Swimming कर लेते है यानि वे भुजाओं के सकर्स से पानी अपने अंदर लेते है और मांसपेशियों की सीफोन नामक ट्यूब से बहुत तेजी से पानी छोड़ते है इस ब्लास्ट से वे Backward Swimming करते है | अपनी भुजाओं के सकर्स की मदद से ही वे समुद्रतल में आसानी से Crawl कर पाते है क्योंकि वे ग्रिप का काम करते है |

13. ऑक्टोपस शिकारी से बचाव के लिए विशेष प्रकट के केमिकल्स का इस्तेमाल करते है जब उन्हें यह समझ में आ जाता है कि वे अब मुसीबत में है तो वह दुसरे स्थान पर अपने ब्लू ब्लड का फव्वारा छोड़ने लगते है जो पानी में घुलकर काली स्याही का धुँआ सा बन जाता है | इससे टाईरोसिनस नामक कैमिकल होता है हो शिकारी की आँखों में जलन पैदा करता है और उसे कुछ दिखाई नही देता है फिर ऑक्टोपस मौके का फायदा उठाकर वहाँ से भाग जाते है|

ये भी पढ़े- पढ़िए! दिमाग से जुड़े कुछ रोचक तथ्य|

पढ़िए! कॉकरोच से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में|

14. गहरे महासागर के तल में मांड बनाकर माँ ऑक्टोपस एक बार में करीब 1 से 3 लाख अंडे देती है शिकारियों से उनकी रक्षा करने और पानी के तेज बहाव से बचाने के लिए माँ ऑक्टोपस अपनी जान की बाजी लगा देती है, ऐसे वक्त में वह शिकार करने को भी नही जाती और भूखी ही रहती है |

15. अधिक भूख लगने पर वह अपने हाथ को ही खाने लग जाती है जिससे वह खुद कमजोर हो जाती है | कई बार तो वह भूख के कारण मर जाती है और दुसरे शिकारियों से अपना बचाव करने में असफल रहती है| अक्सर युवा ऑक्टोपस अपने माता-पिता से कुछ सीख नही पाते इसलिए अन्डो से निकले आधे से अधिक लार्वा युवा होने से पहले ही दुसरे समुद्री जीवो का शिकार हो जाते है|

16. ऑक्टोपस का जीवनकाल एक से पांच साल तक होता है।