15 साल की लड़की ने दिया एक बच्चे नवजात को जन्म|

15 साल की लड़की ने दिया एक बच्चे नवजात को जन्म|

0
SHARE

भारत में रोजाना नवजात बच्चो से लेकर कई मामले सामने आते रहते है| ना जाने कब तक ऐसे ही नवजात बच्चो को यही फेका जाएगा| कुछ ऐसा ही अजीबो गरीब मामला आज हमारे सामने आया है| एक गांव के कूड़े के ढेर में एक नवजात बच्चे के मिलने से हड़कम मच गया| ये बच्चा लड़का है| गांव वालो को बच्चे के रोने आवाज आई तो लोगो ने यहाँ वहाँ ढूँढना शुरू किया तो बच्चा एक कूड़े के ढेर में मिला|

गांव के लोगो ने बच्चे के माँ-बाप ढूंढने की ठानी और ऐसी बीच कूड़े के ढेर के पास खून के धब्बे दिखे जिनका पीछा कर लोग पास के एक घर तक जा पहुंचे| जहा लोगो को पता चला की यहाँ एक 15 वर्ष की लड़की की डिलीवरी की गई थी| डिलीवरी के बाद बच्चे को पास ही के कूड़े के ढेर में फेक दिया| जब गांव की लोगो ने बच्चे के बारे में कुछ सवाल पूछे तो उन्होंने साफ मना कर दिया| जब इन लोगो से गांव वाले लगातार सवाल पूछते रहे तो ये टूट गए और इन्होने गांव वालो को बताया की ये बच्चे हमारा ही है और हमने बच्चे की जन्म के बाद इसे बहार फैक दिया था| कूड़े में फैकने के कारण बच्चा धूल में बुरी तरह सन गया| ग्रामीणों ने बच्चे को पास ही के सरकारी जच्चा बच्चा केंद्र में भर्ती करवा दिया है| जहाँ बचें का इलाज और देख भाल की जा रही है|

15 साल की लड़की ने दिया एक बच्चे नवजात को जन्म|

बतादे की बच्चे को जन्म देने वाली लड़की की उम्र मात्र 15 साल है| लड़की दसवीं कक्षा की छात्रा है| बच्चे के जन्म के एक दिन पहले यानि की मंगलवार को लड़की स्कूल भी गयी थी| पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में लड़की ने बताया की इस बच्चे का बाप गांव का ही रहने वाल है| जिसका नाम आकाश निषाद(25 वर्षीय) है| लड़की ने बताया की लड़के का उसके घर आना जाना लगा रहता है| धीरे धीरे दोनों में बात होने लगी और बातचीत इतनी हद तक बड़ी की दोनों आपसी सम्बन्ध बन गये और लड़की गर्भवती हो गई| लकड़ी के गर्भवती होने बात पता ही नहीं थी| डा. सीमा सिंह जो की स्त्री रोग विशेषग है ने कहा की लड़की के घरवाले झूठ बोल रहे है| लड़की पेट से हो और घर पर किसी को कानो कान खबर नहीं, ऐसा नहीं हो सकता|

बच्चे को कड़ी ठण्ड में बहार फेकने की वजहें से बच्चा काफी कमजोर हो गया है| अभी बच्चा चाइल्ड आईसीयू में है| डॉक्टर्स बताया की जिस वक्त बच्चे को भर्ती करवाया गया था तब बच्चे की हालत काफी नाजुक थी| बच्चे को हाइपोथर्मिया हो गया है| बच्चा अब खतरे से बहार है और आईसीयू वार्ड में है|