जेएनयु फिर हुआ शर्मसार, लेफ्ट का जीतन पाकिस्तान की साजिश?

जेएनयु फिर हुआ शर्मसार, लेफ्ट का जीतन पाकिस्तान की साजिश?

0
SHARE

जेएनयु फिर हुआ शर्मसार, लेफ्ट का जीतन पाकिस्तान की साजिश ? :  अर्नब गोस्वामी टाइम्स नाउ के एडिटर इन चीफ , जी हाँ हम उसी अर्नब गोस्वामी की बात कर रहे हैं जिनके शो प्राईम टाईम  पर जाने वाले हर मेहमान की यही शिकायत होती है कि अर्नब उन्हें डिबेट में नीचा दिखाने का प्रयास करते हैं और कभी भी मेहमान को बोलने  नहीं देते।

NEW DELHI, INDIA - FEBRUARY 12: ABVP Students protest against the organisers of the event on Afzal Guru where slogans were anti-national slogans were raised at JNU Campus on February 12, 2016 in New Delhi, India. JNU students union president Kanhaiya Kumar was arrested on in connection with a case of sedition and criminal conspiracy over holding of an event at the prestigious institute against hanging of Parliament attack convict Afzal Guru in 2013. A group of students on Tuesday held an event on the JNU campus and allegedly shouted slogans against India. (Photo by Arun Sharma/Hindustan Times via Getty Images)

आपको याद होगा कैसे देशद्रोह के मुद्दे पर गोस्वामी ने जेएनयू छात्र उमर खालिद को देश द्रोही करार दिया था, यह पहला ऐसा मामला नहीं है। तहलका के पत्रकार असद अशरफ को भी बटला हाउस एनकांटर मुद्दे पर अर्नब ने आईएसआई एजेंट घोषित कर दिया था।

हम आपको ये सब इसलिए बता रहे हैं, क्योंकि आज सबकी नजर जेएनयू छात्रसंघ पर टिकी हुई है। जहाँ एक बार फिर लेफ्ट जीत सिघांसन पर बैठने जा रहा है।

चुनाव के नतीजे सुन कर ABVP के पैरों तले जमीन खिसक गयी है। लेफ्ट विंग से जुड़े छात्र संघ ने चारों की चारों सीट जीत कर आरएसएस द्वारा संचालित छात्र संघ ABVP को शर्मनाक शिकस्त दी है। आपको बता दें पिछले साल ABVP ने एक सीट हासिल की थी, लेकिन इस साल एक सीट भी न जीतना बहुत ही शर्मनाक बात है।

राजनीतिक रूप से सक्रिय यूनिवर्सिटी में करीब 35 उम्मीदवारों के चुनावी भविष्य का फैसला हुआ है। हाल के महीनों में यूनिवर्सिटीज़ कैम्पस में हुए विवादों की छाया में यह चुनाव हो रहा है और लोगों की नजरें इस पर लगी हुई हैं।

गौरतलब अरनब गोस्वामी और तमाम न्यूज़ चैनल ने JNU  को देशद्रोहियों का अड्डा बताया गया है।

अब सभी अब ABVP छात्रों ने  अर्णब गोस्वामी के टाइटल डायलॉग ” NATION WANTS TO KNOW ” को निशाना लेते हुए , ये सवाल खड़ा किया है कि क्या अरनब अपने प्राईम टाईम पर इस मुद्दे पर डिबेट करेंगे कि आखिर जो देशभक्त हैं वो चुनाव कैसे हार गए? लेफ्ट के एक बार फिर जेएनयू में जीतने में पाकिस्तान का क्या रोल है? और अगर लेफ्ट ने लाल झंडा फहराया है तो केंद्र सरकार को ज़रूर इस साज़िस के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।

फिलाल तो यह एक सोशल मीडिया बज्ज है लेकिन ये देखना वाकई दिलचस्प बात होगी कि क्या अर्नब गोस्वामी इस मुद्दे पर अपने शो में चर्चा करेंगे या नहीं।