उत्तर प्रदेश की राजधानी हुई फिर शर्मसार, मदरसे में बंधक बना कर...

उत्तर प्रदेश की राजधानी हुई फिर शर्मसार, मदरसे में बंधक बना कर यौन शोषण|

0
SHARE

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मदरसे में लड़कियों को जबदस्ती बंधक बनाकर उनका यौन शोषण करने की घटना सामने आई है| यह घटना सआदतगंज के यासीनगंज में स्थित जामिया खदीजतुल कुबरा लिलबनात मदरसे की बताई जा रही है| बता दें की उत्तर प्रदेश पुलिस ने इस मदरसे से तक़रीबन 51 लड़कियों को छुड़वाया है| पुलिस ने इस मामले में कार्यवाही करते हुए संचालक कारी तैयब जिया को गिरफ्तार किया है| दैनिक जागरण की खबर के अनुसार एससपी विकास चंद त्रिपाठी ने बताया की इस घटना की जानकारी सैयद अशरफ जिलानी द्वारा दी गई थी, जो खुद को इस मदरसे का संरक्षक बताता है|

उत्तर प्रदेश की राजधानी हुई फिर शर्मसार, मदरसे में बंधक बना कर यौन शोषण|

जिलानी के मुताबिक उन्हें पिछले काफी समय से मदरसे में हो रहे लड़कियों के साथ यौन शोषण की शिकायत मिल रही थी| इस घटना पर बात करने के लिए खुद जिलानी मदरसे के आरोपी से बात करने गए| बातचीत करने के दौरान दोनों आपस में भीड़ गए और आरोपी ने मौका पाते ही पुलिस को सुचना दी की जिलानी उनका अपहरण कर रहे है| जिलानी के निकलते वक्त मदरसे में कैद लड़कियों में से कुछ ने उनके पास चिठियाँ फेंकी, जिनमे लिखा था की मदरसे में उनके साथ यौन शोषण किया जा रहा है| जिलानी इन चिठियों के साथ पुलिस के पास पहुंचे और उन्हें इस बात की जानकारी दी|

पुलिस की एक टीम जिसमे एसएसपी विकास चंद त्रिपाठी, सिटी एडीएम संतोष कुमार, चाइल्ड वेलफेयर कमेटी और अल्पसंख्यक विभाग की एक टीम मदरसे में छापेमारी के लिए पहुंची| मदरसे में छापेमारी के दौरान पुलिस ने 51 लड़कियों को छुड़वाया| छुड़वाई गई लड़कियों ने चाइल्ड वेलफेयर कमेटी की महिला सदस्यों और मजिस्ट्रेट के सामने उनके साथ जो बर्ताव हुआ उसकी जानकारी दी| लड़कियों ने बताया की आरोपी उन्हें मारता पीटता था और उन्हें मौका पाके अपने रूम में बुला कर छेड़छाड़ करता था| खबर के अनुसार इस मदरसे में 150 लड़कियाँ पढ़ती थी|

ये भी पढ़े- टाइगर जिंदा है बॉक्स ऑफिस कलेक्शन, देखे आठवें दिन कितनी हुई कमाई?

मुंबई कमला मिल्स बिल्डिंग में लगी आग, 14 लोगों की मौत, 21 घायल, राहत और बचाव का काम जारी|

यह मदरसा तक़रीबन 20 साल पुराना है और पहले इस मदरसे में लड़के भी पढ़ा करते थे लेकिन आरोपी के संचालन करने के बाद यहाँ पर केवल लड़कियों को ही पढ़ाया जाने लगा| मदरसे में पढ़ने वाले एक शिक्षक से आरोपी की शिकायत की थी, लेकिन शिक्षक के विरोध करने के बाद उसे मदरसे से निकल दिया गया| आरोपी जब भी लड़कियों को अकेला पाता तो उनसे छेड़छाड़ करता था|