मेरा पति कोई दारूबाज नहीं था।,जो नाले में गिरकर मर गया।

मेरा पति कोई दारूबाज नहीं था।,जो नाले में गिरकर मर गया।

0
SHARE

मेरा पति कोई दारूबाज नहीं था।,जो नाले में गिरकर मर गया।बिहार सरकार की ओर से घोषित 5 -5 लाख मुआवजे की रकम ने भोजपुर के शहीद परिवार को दुखी कर दिया। शहीद हवलदार अशोक कुमार सिंह की पत्नी संगीता  देवी ने सरकार की और से 5 लाख के चेक को शहीद के परिवार का अपमान बताते हुए स्वीकार करने से मन कर दिया।

nitish kumar

गुस्से में संगीता ने कहा क्या मेरा पति पियाकड़ था जो किसी नाले में गिर  कर मर गया?सामान्य से हादसे में जान गवाने वाला भी इस राज्य में 4 लाख मुआवजा पाता है। मेरा पति तो शहीद हुआ है। मुझे नितीश सरकार से वित्तिय मदद की जरुरत नहीं है। हम भिखारी नहीं है नितीश सरकार को यह देते हुए शर्म आनी  चाहिए।

शहीद के अंतिम संस्कार में शामिल राज्य के तकनीक और विज्ञान मंत्री जय कुमार सिंह ने जब परिवार के गुस्से की जानकारी नितीश को दी तो सरकार ने तुरंत राज्य के तीनो शहीदों के परिवार जनो को 11 -11 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान किया। क्या हमारे शहीदों के द्वारा दी हुई कुर्बानियों की यही वैल्यू है। जिनकी सेवा से हम सब लोग सुरक्षित रहते है। यह एक गंभीर सोच है जिसे हम लोगो को समझना होगा।