जातीय हिंसा के कारण आज महाराष्ट्र बंद का ऐलान, आम जन-जीवन ठप

जातीय हिंसा के कारण आज महाराष्ट्र बंद का ऐलान, आम जन-जीवन ठप

0
SHARE

पुणे के कोरेगांव भीमा इलाके में हुई जातीय हिंसा के विरोध के आज बुधवार को पुरे महाराष्ट्र में बंद बुलाया गया, जिसका असर पूरी राज्य भर में देखने को मिल रहा है| बता दें ठाणे इलाके में प्रशासन ने धारा 144 लागू 4 तक लगाने का फैसला किया है, वही औरंगाबाद में इंटरनेट सेवाओं पर पूरी तरह से पाबन्दी लगाई गई है| महाराष्ट्र में इस बंद के कारण रेल, सड़क यातायात बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है| रोजाना दौड़ने वाली मुंबई पर आज रोक लग गई है| डब्बावाला असोसिएशन ने बंद के मद्देनजर अपनी सेवा को आज नहीं देने का फैसला किया है| आज संसद में भी महाराष्ट्र बंद को लेकर हंगामा होने की सम्भावना है| विपक्षी दल कांग्रेस ने स्थगन प्रस्ताव का नोटिस भी जारी किया है|

जातीय हिंसा के कारण आज महाराष्ट्र बंद का ऐलान, आम जन-जीवन ठप

बस सेवा रही बाधित

बंद के कारण पुरे राज्य भर में बस सेवा पूरी तरह से बाधित है| अगले आदेश आने तक पुणे से बारामती और सतारा तक बस सेवा पर रोक लगा दी गई है| कुछ जगहों पर बसों को रोके जाने की भी खबरे आ रही है| कही तो प्रदर्शनकारी बसों को रोककर उनके पहियों की हवा निकलते दिखे| सड़को पर पब्लिक ट्रांसपोर्ट की कमी के कारण लोगो को अपने ऑफिस जाने में खासी दिकतो का सामना करना पड़ रहा है| प्रदर्शनकारियों के आक्रोश को देखते हुए मुंबई के घाटकोपर के रमाबाई कॉलोनी और ईस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है| सुरक्षा के मध्यनजर कर्नाटक और महाराष्ट्र के बीच बस सेवा पर रोका लगाने का फैसला किया गया|

ट्रेनों की आवाजाही को रोका गया
ठाणे रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शनकारियों ने ट्रैन रोक का हंगामा किया| आंदोलनकारियों के आक्रोश को देखते हुए कुछ समय के लिए ट्रैन की आवाजाही पर रोक लगी रही| नालासोपारा रेलवे स्टेशन ट्रैन की आवाजाही रोकने के लिए रेलवे ट्रैक पर ही जमा हो गए| जिसके कारण मुंबई की लोकल ट्रैन पर ब्रेक लग गया| प्रशासन लोगो को हटाने की कोशिश कर रहा है| पुणे के प्रशासन से कहा है की यहाँ ट्रैन सामान्य तरीके से चल रही है|

 

 

 

यह भी पढ़े- कर्नाटक में नए मेडिकल बिल के खिलाफ निजी चिकित्सकों की हड़ताल, स्वास्थ्य सेवाएं हुई बाधित|

फुकरे रिटर्न्स बॉक्स ऑफिस कलेक्शन | वर्ल्ड वाइड कमाई रिपोर्ट डे वाइज

बता दें की परसो सोमवार को भीमा-कोरेगांव के बीच हुए युद्ध की 200वीं वर्षगांठ थी, जिसे मनाने के लिए लाखो की संख्या में दलित इकठा हुए थे लेकिन कुछ मराठा संगठनो से इनकी झड़प हो गई और इस बीच एक व्यक्ति की भी मौत हो गई| जिसके कारण कल मंगलवार को भी कुछ इलाको में हिंसा की घटना सामने आई| पुलिस ने कार्यवाही करते हुए दो लोग के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है भारी संख्या में लोग को हिरासत में भी लिया है| वही दूसरी ओर बाबा साहब भीम राव अंबेडकर के पोते और एक्टिविस्ट प्रकाश अंबेडकर ने आज पुरे महाराष्ट्र बंद का ऐलान किया है|