कहा शुरू हुई भावांतर योजना और कैसे मिलेगा किसानो को इसका लाभ?

कहा शुरू हुई भावांतर योजना और कैसे मिलेगा किसानो को इसका लाभ?

0
SHARE

देश में किसानो की हालत दिनबदीन ख़राब होती जा रही है| और हजारो की संख्या में किसान आत्महत्या कर रहे है| आए दिन किसान उचित मूल्ये ना मिलने से और क़र्ज़ के कारण आत्महत्या करने को मजबूर है| बिचौलियों और जमाखोरों ने भी किसानो को लूटने में कोई कसर नहीं छोड़ी है| कई बार देश में किसान आंदोलन भी होते रहे है| अभी हाल में हुए मंदसौर में हुए किसान आंदोलन ने मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार की आँख खोली है| अब जाकर MP की सरकार किसानो की हालत को सुधारने के लिए कुछ कदम उठाने जा रही है|

कहा शुरू हुई भावांतर योजना और कैसे मिलेगा किसानो को इसका लाभ?

मध्यप्रदेश की सरकार ने भावांतर योजना की शुरुआत की है ताकि किसानों को उसकी उपज का उचित मूल्य मिल सके| इस योजना के अंतर्गत किसान बाजार भाव पर फसल बेच सकेंगे| इस योजना के जरिए अधिसूचित कृषि मंडी समितियों के प्रांगण में बेचने हेतु न्यूनतम समर्थन मूल्य तथा घोषित मंडियों की मॉडल बेचने की दर में आ रही राशि के अंतर को किसानों के खाते में सीधा जमा किया जाएगा| ऐसा देखा गया है कि मंडियों में उपज के दाम कम हो जाते है जिसके कारण किसानो को उनकी उपज का लागत मूल्य भी नहीं मिल पाता| सरकार ने पंजीयन की तारीख को बड़ा कर 15 से 22 नवंबर कर दिया है|

क्या है भावांतर योजना?
भावांतर योजना मध्यप्रदेश सरकार के द्वारा शुरू की गई है| अब इस योजना के अंतर्गत किसानो की अपनी फसल बाज़ार में बेचने से पहले उसका पंजीयन (रजिस्ट्रेशन) करवाना होगा| एमपी उपार्जन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाया जा सकता है| पंजीयन के बाद किसानो को उनकी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य मिलना तय हो जाएगा| किसानो को लाभ की राशि सीधे उनके बैंक खाते में जाएगी|

किसानों को राशि के भुगतान की सूचना एसएमएस द्वारा मिलेगी| इस योजना के अंतर्गत किसनो की बाकि समस्याओ का भी समाधान किया जायेगा|

कैसे करे पंजीयन (रजिस्ट्रेशन)?
इस योजना के लिए ई- उपार्जन पोर्टल पर पंजीयन किया जा सकता है।
इस पोर्टल पर खरीफ किसान पंजीयन 2017-18’पर क्लिक करें। इसके बाद खुलने वाले पेज पर बाईं ओर ‘धान एवं मोटा अनाज 2017-18 किसान पंजीयन आवेदन करे’ पर क्लिक करें- व उसके बाद दिए गए बाक्स में अपनी वंचित जानकारी दर्ज।