दिल्ली बुराड़ी केस में आया नया मोड़ ललित नहीं बल्कि परिवार का...

दिल्ली बुराड़ी केस में आया नया मोड़ ललित नहीं बल्कि परिवार का यह सदस्य लिखता था रजिस्टर में नोट्स

0
SHARE

दिल्ली बुराड़ी केस में आया नया मोड़ ललित नहीं बल्कि परिवार का यह सदस्य लिखता था रजिस्टर में नोट्स: दिल्ली बुराड़ी में एक ही घर में 11 लोगों की रहस्यमयी मौत की खबर से सभी लोग हैरान परेशान है| पुलिस की जाँच में बुराड़ी मामले में रोज नए-नए चौकाने वाले खुलासे हो रहे है| अब इस केस की जाँच में बड़ी ही हैरान करने वाली बात सामने आई है| जो रजिस्टर और डायरी बरामद हुई है उसमें जो नोट्स लिखे है| उन्हें ललित नहीं बल्कि ललित की भांजी प्रियंका लिखा करती थी| क्राइम ब्रांच की टीम को अब तक घर से जो रजिस्टर मिले है उसमें प्रियंका की लिखावट मिली है| प्रियंका ही वह लड़की थी जिसकी पिछले महीने की 17 तारीख को सगाई हुई थी और इन मरने वालों में 33 साल की प्रियंका भी शामिल थी|

दिल्ली बुराड़ी केस में आया नया मोड़ ललित नहीं बल्कि परिवार का यह सदस्य लिखता था रजिस्टर में नोट्स

दिल्ली के बुराड़ी इलाके में रहने वाला भाटिया परिवार के 11 लोगों की रहस्यमयी मौत के बाद घर से कई ऐसे नोट्स मिल रहे है जिनमें कई रहस्यमयी बातें लिखी है| जो नोट्स घर से मिले है उनमें ललित की भांजी प्रियंका की लिखावट पाई गई है| ऐसा माना जा रहा है की जब ललित के शरीर में पिता की आत्मा आती होगी तब ललित के द्वारा बोली गई हर बात को प्रियंका ही इन रजिस्टर और डायरी में लिखा करती होगी|

दिल्ली बुराड़ी केस: 11 मौत, 11 पाइप के बाद अब घर के रोशनदान में लगे मिले 11 एंगल के ग्रिल से उलझा मामला

भाटिया परिवार ललित की हर बात मानता था| परिवार का हर सदस्य ललित की बात को नकारता नहीं था| ललित ने इस बारे में घर से बाहर किसी को भी बताने से मना किया हुआ था| ललित ने परिवार के हर सदस्य आदेश दिया हुआ था की इस बारे में किसी भी बाहरी व्यक्ति से इसका जिक्र तक ना करें| ललित की बातो पर परिवार को अंधा विश्वास होने लगा था और परिवार के सदस्यों को लगता था की ललित के पास सच में कोई दिव्य शक्ति है|

दिल्ली बुराड़ी मामला: जानिए! घर की दीवार पर क्यों लगे थे 11 पाइप

घर से जो डायरी मिली है उसके एक पेज पर लिखा था की मोक्ष की प्रक्रिया 9 बजे शुरू होगी और रात 10 बजे खाने के लिए आर्डर किया जाएगा सबको रोटियां माँ खिलाएंगी… यह प्रक्रिया रात 1 बजे होगी.. मुहं में गीला कपड़ा डालना होगा.. कानों में कॉटन डालनी होगी… हाथों को बांधना होगा…बाद में स्टूल पर चढ़कर फंदे को गले में डालना होगा… जैसे ही वो फंदा डालेंगे तो अदृश्य शक्ति उन्हें बचा लेगी।’

ललित ने परिवार के हर सदस्य को पिता के आदेश का पालन करने और उनसे इस बारे में कोई भी सवाल नहीं करने की सख्त हिदायत दी थी| उन्होंने यह भी कहा था की जो ऐसा नहीं करेगा वो दिन क़यामत का दिन होगा| ललित ने इन बातो को परिवार के सदस्यों के सामने सही साबित करने के लिए अपने परिवार को बताया की कैसे उनका भला हो रहा है|

दिल्ली बुराड़ी केस: घर से मिले रजिस्टर में लिखी मिली ये 10 बातें

उसने उदाहरण के तौर पर प्रियंका से जुड़ी घटनाओं के बारे बारे में परिवार को बताया की कैसे उसकी बात मानने से प्रियंका मांगलिक होने के बाद भी उसकी शादी तय हो गई, उसका बिजनेस बढ़ता गया और 1 से तीन दुकानें हो गई, भाई की बेटी ने स्कूल मे टॉप किया.. इस तरह की बातों से ललित ने पूरे परिवार को अपने वश में कर लिया। पुलिस को डायरियों में जो नोट्स मिले हैं उनसे तो ऐसा ही लगता है कि ललित अक्सर अपने पिता से बहस किया करता था।