अगले महीने से दिल्ली होगी और भी ज्यादा सुरक्षित, ब्राजील के AI...

अगले महीने से दिल्ली होगी और भी ज्यादा सुरक्षित, ब्राजील के AI कैमरे से रखी जाएँगी नज़र|

0
SHARE

दिल्ली, मुंबई और आगरा की सड़के अगले महीने से पहले के मुकाबले और भी ज्यादा सुरक्षित होंगी| ऐसा इसलिए होगा क्योकि ब्राजील की सिक्यॉरिटी कंपनी पोलसेक अगले महीने से इन तीनो शहरों में अपने आर्टिफिशल इंटेलिजेंस बेस्ड कैमरों की टेस्टिंग शुरू करने जा रहा है| फ़िलहाल शुरुआती तौर पर स्मार्ट आइज नाम के इन कैमरों की 100 यूनिट ही इंस्टॉल की जाएगी| बाद में कंपनी अपने और ज्यादा फीचर्स के साथ इनकी संख्या में इजाफा करेंगी|

अगले महीने से दिल्ली होगी और भी ज्यादा सुरक्षित, ब्राजील के AI कैमरे से रखी जाएँगी नज़र|

बता दें की ये स्मार्ट आइज हर तरह की हल चल को पर नजर रखेगी जैसे ट्रैफिक रूल्स के उल्लंघन, अनाधिकृत क्षेत्रों में वीइकल्स के रुकने या अवैध पार्किंग आदि| पोलसेक के चीफ एग्जिक्यूटिव, रेनाटो वर्नर ने कहा इन कैमरो के इंस्टॉल होने के बाद विभागों को कानून का उलंघन करने वालो पर कार्यवाही करने में मदद मिलेगी| वर्नर इंडिया-ब्राजील चैंबर ऑफ कॉमर्स के अडवाइजरी बोर्ड के सदस्य भी हैं।

इस कैमरे की खूबी बताते हुए कहा गया की, यह कैमरा कुछ समय के बाद यह भी पता लगाने में सक्षम है की प्रत्येक दिन किसी एक विशेष समय पर कितने लोग सड़क पर करते है| अगर सड़क पार करने वाले लोगो की संख्या में पहले के मुकाबले अगर कोई बढ़ोतरी पाई जाती है तो कैमरा खुद ब खुद इसकी जानकारी अथॉरिटी को देगा| यही नहीं ये कैमरा कारो को नो पार्किंग वाले स्थान में जाने से या पार्क होने की जानकारी भी विभाग को देगा|

यह एक तरह से रोटेट होने वाला कैमरा है, यह ड्राइवर को अपने स्पीकर के माध्यम से एक अलर्ट संदेश भेजेगा और अगर ड्राइवर अनसुना करता है तो पास की ट्रैफिक पुलिस या सरकारी विभाग को कार्यवाही करने के लिए रिपोर्ट भी करेगा| अपनी इस काम को करने में यह कैमरा मात्रा कुछ ही सेकंड लेगा| इस कैमरे में आसानी से अन्य फीचर्स भी जोड़े जा सकते है| बता दें की अभी तक देश की राज्य सरकारो ने केवल इस कैमरे को कचरे के जमा होने, पार्किंग की समस्याओं और ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन के लिए ही लगाने का फैसला किया है| यह कैमरे नॉलेज, एक्सपीरियंस और समझ के आधार पर काम करते है|इस कैमरे की एक यूनिट का खर्चा 280 डॉलर (लगभग 17,950 रुपये) है।

ये भी पढ़े- दिल्ली मेट्रो अपने ट्रायल के दौरान दीवार तोड़ कर बाहर निकली, 25 दिसंबर को पीएम मोदी को करना है उद्घाटन

बीजेपी नेता ने स्कूल में घुसकर महिला टीचर की पिटाई की, जमकर बरसाए थप्पड़| देखे वीडियो!

आपकी जानकारी के लिए बता दें की पोलसेक इन कैमरों को भारत की सरकारों से पहले स्विट्जरलैंड और कोलंबिया की सरकारों के साथ काम कर रही है| लोगो की प्राइवेसी को देखते हुए, इस कैमरे में चेहरे को कवर करने का फंक्शन मौजूद है| किसी मुश्किल हालात में इस फीचर को हटाया जा सकता है|