चीन ने 1800 सैनिको के साथ डोकलाम में डाला डेरा, हेलीपैड और...

चीन ने 1800 सैनिको के साथ डोकलाम में डाला डेरा, हेलीपैड और सड़कों का निर्माण कार्य शुरू

0
SHARE

भारत और चीन के बीच पिछले कुछ समय से डोकलाम में काफी तनाव की स्थिति बनी हुई थी| जिसमे अभी कुछ समय पहले ही शांति बहाल हुई थी और यही उम्मीद भी लगाई जा रही थी अब दोनों देशो की सेना यहाँ आमने सामने नहीं आएगी| लेकिन चीन ने फिर इस मामले को कुरेदना शुरू कर दिया है| डोकलाम में जारी गतिरोध के ख़त्म होने के बाद एक बार फिर चीन ने अपनी हरकतों से डोकलाम विवाद को उजागर कर दिया है| बता दें की चीनी सेना ने डोकलाम के पास फिर से अपना डेरा डाल लिया है| टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक 1600-1800 चीनी सैनिकों ने सिक्किम-भूटान-तिब्बत ट्राइ जंक्शन जो की डोकलाम के पास ही अपना कैंप लगा लिया है| खबर के अनुसार चीन ने यहाँ निर्माण कार्य भी शुरू कर दिया है| चीनी सेना यहाँ हेलीपैड, उन्नत सड़कों और शिविरों के काम में जुटी है|

चीन ने 1800 सैनिको के साथ डोकलाम में डाला डेरा, हेलीपैड और सड़कों का निर्माण कार्य शुरू

मिली जानकारी के अनुसार भारतीय सुरक्षा का कहना है की भारत का रणनीतिक उद्देश्य यही है की वह चीन को डोकलाम के दक्षिणी इलाके जमशेरी रिज की ओर रोड का निर्माण नहीं करने दिया जाए| चीनी सेना हल साल अपनी मौजूदगी का एहसास कराने के मकसद से अप्रैल-मई और अक्टूबर-नवंबर के समय डोकलाम के इस विवादित क्षेत्र में आती रहती है| इस साल भी चीनी सेना भारत आई थी और सड़को का निर्माण कार्य किया गया| जिसका कड़ा विरोध भारत ने किया| यह विरोध काफी लम्बे समय तक जारी रहा और इसी दौरान दोनों देशो की सेनाएँ 73 दिनों तक आमने-सामने रही| बाद में 28 अगस्त को इसका शांति पूर्ण हल भी निकाला गया|

ये भी पढ़े- जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में तीन आतंकी ढेर, सेना ने शुरू किया सर्च ऑपरेशन|

कैंसर पीड़ित महिला से गैंगरेप, मदद मांगने पर राहगीर ने भी किया रेप|

डोकलाम विवाद थमने के कुछ समय बाद भारतीय सेना के चीफ बिपिन रावत ने सितम्बर के महीने में देश को आगाह किया था की देश को दोनों मोर्चो पर युद्ध के लिए तैयार रहना चाहिए| चीन ने हमे आँख दिखाना शुरू कर दिया है| जनरल बिपिन रावत ने कहा था की हमे युद्ध के लिए तैयार रहना होगा| बाहरी खतरों को देखते हुए तीनो सेनाओ में सेना की सर्वोचता बनी रहनी चाहिए| नवंबर महीने में आई रिपोर्ट के मुताबिक डोकलाम विवाद सुलझने के बाद दो चीनी सेना ने दो महीने के अंदर ही 31 बार भारत की सीमा में घुसने की कोशिश की|