चंद्रशेखर आजाद जयंती 2018 कोट्स, शायरी, स्लोगन, कविता, इमेज

चंद्रशेखर आजाद जयंती 2018 कोट्स, शायरी, स्लोगन, कविता, इमेज

0
SHARE

चंद्रशेखर आजाद जयंती 2018 कोट्स, शायरी, स्लोगन, कविता इमेज: भारत के महान क्रांतिकारियों में से एक चंद्रशेखर आजाद की जयंती (Chandra Shekhar Azad) की आज जयंती है| चंद्रशेखर आज़ाद का जन्म 23 जुलाई, 1906 को मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले के भाबरा में हुआ था| चंद्रशेखर छोटी सी उम्र में ही आजादी की लगाई में भाग लेने लग गए थे| वे 14 साल के थे जब बनारस में संस्कृत की पढाई कर रहे थे| आज इस पोस्ट में हम चंद्रशेखर आजाद जयंती शायरी, कोट्स, मैसेज, इमेज, स्लोगन, पोस्टर आदि शेयर कर रहे है| इन्हे अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करे और चंद्रशेखर आजाद को श्रद्धांजलि अर्पित करें|

चंद्रशेखर आजाद जयंती 2018 कोट्स, शायरी, स्लोगन, कविता, इमेज

चंद्रशेखर आजाद जयंती 2018 कोट्स

साल 1920 में हुए असहयोग आंदोलन से भी चंद्रशेखर जुड़े और उन्हें बाद में गिरफ्तार कर लिया गया था| उन्हें फिर न्यायाधीश के सामने पेश किया गया| अदालत में चंद्रशेखर ने अपना नाम ‘आजाद’, पिता का नाम ‘स्वतंत्रता’ और ‘जेल’ को अपना घर बताया| उन्हें 15 कोड़ों की सजा मिली थी|

1. ‘दुश्मन की गोलियों का, हम सामना करेंगे, आजाद ही रहे हैं, आजाद ही रहेंगे.’

2. ‘मेरा नाम आजाद है, मेरे पिता का नाम स्वतंत्रता और मेरा घर जेल है.’

3. ‘यदि कोई युवा मातृभूमि की सेवा नहीं करता है, तो उसका जीवन व्यर्थ है.’

4. ‘अगर आपके लहू में रोष नहीं है, तो ये पानी है जो आपकी रगों में बह रहा है. ऐसी जवानी का क्या मतलब अगर वो मातृभूमि के काम ना आए.’

बाल गंगाधर तिलक जयंती 2018 कोट्स, मैसेज, कविता, इमेज

5. ‘दूसरों को खुद से आगे बढ़ते हुए मत देखो. प्रतिदिन अपने खुद के कीर्तिमान तोड़ो, क्योंकि सफलता आपकी अपने आप से एक लड़ाई है.’

6.’मैं ऐसे धर्म को मानता हूं, जो स्वतंत्रता समानता और भाईचारा सिखाता है.’

7. ‘चिंगारी आजादी की सुलगती मेरे जिस्‍म में हैं. इंकलाब की ज्वालाएं लिपटी मेरे बदन में हैं. मौत जहां जन्नत हो यह बात मेरे वतन में है. कुर्बानी का जज्बा जिंदा मेरे कफन में है.’

चंद्रशेखर आजाद जयंती 2018 कोट्स, शायरी, स्लोगन, कविता, इमेज

चंद्रशेखर आजाद शायरी

साल 1922 में जब गाँधी जी ने चौरी-चौरा कांड के बाद आंदोलन लिया तो आजाद ने अहिंसा का रास्ता छोड़ उग्र होकर आजादी की लड़ाई लड़ने का फैसला किया| वे रामप्रसाद बिस्मिल के क्रांतिकारी संगठन हिंदुस्तान रिपब्लिक एसोसिएशन (एचआरए) से जुड़े रहे| उन्होंने बाद में सरकारी खजाने को लूट कर संघठन के लिए धन इक्कठा करने शुरू कर दिया| आजाद का मानना था की यह धन-दौलत भारत के लोगों की ही है जिसे अंग्रेजो ने लुटा है|

“टूटी हुई बोतल है टूटा हुआ पैमाना।
सरकार तुझे दिखा देंगे ठाठ फकीराना॥”

“शहीदों की चिताओं पर पड़ेंगे ख़ाक के ढेले।
वतन पर मिटने वालों का यही बाकी निशां होगा॥”

“दुश्मन की गोलियों का हम सामना करेंगे,
आजाद ही रहे हैं, आजाद ही रहेंगे”

चंद्रशेखर आजाद कविता

तुम आजाद थे, आजाद हो, आजाद रहोगे,
भारत की जवानियों के तुम खून में बहोगे।
मौत से आंखें मिलाकर वह बात करता था,
अंगदी व्यक्तित्व पर जमाना नाज करता था।
असहयोग आंदोलन का वो प्रणेता था,
भारत की स्वतंत्रता का वो चितेरा था।
बापू से था प्रभावित, पर रास्ता अलग था,
खौलता था खून अहिंसा से वो विलग था।
बचपन के पन्द्रह कोड़े, जो उसको पड़े थे,
आज उसके खून में वो शौर्य बन खड़े थे।
आजाद के तन पर कोड़े तड़ातड़ पड़ रहे थे,
‘जय भारती’ का उद्घोष चन्दशेखर कर रहे थे।
हर एक घाव कोड़े का देता मां भारती की दुहाई,
रक्तरंजित तन पर बलिदान की मेहंदी रचाई।
अहिंसा का पाठ उसको कभी न भाया,
खून के ही पथ पर उसने सुकून पाया।
उसकी शिराओं में दमकती थी जोशो जवानी,
युद्ध के भीषण कहर से लिखी थी उसने कहानी।
उसकी फितरत में नहीं थीं प्रार्थनाएं,
उसके शब्दकोशों में नहीं थीं याचनाएं।
नहीं मंजूर था उसको गिड़गिड़ाना,
और शत्रु के पैर के नीचे तड़फड़ाना।
मंत्र बलिदान का उसने चुना था,
गर्व से मस्तक उसका तना था।
क्रांति की ललकार को उसने आवाज दी थी,
स्वतंत्रता की आग को परवाज दी थी।
मां भारती की लाज का वो पहरेदार था,
भारत की स्वतंत्रता का वो पैरोकार था।
अल्फ्रेड पार्क में लगी थी आजाद की मीटिंग,
किसी मुखबिर ने कर दी देश से चीटिंग।
नॉट बाबर ने घेरा और पूछा कौन हो तुम,
गोली से दिया जवाब तुम्हारे बाप हैं हम।
सभी साथियों को भगाकर रह गया अकेला,
उस तरफ लगा था बंदूक लिए शत्रुओं का मेला।
सिर्फ एक गोली बची थी भाग किसने था मेटा,
आखिरी दम तक लड़ा वो मां भारती का था बेटा।
रखी कनपटी पर पिस्तौल और दाग दी गोली,
मां भारती के लाल ने खेल ली खुद खून की होली।
तुम आजाद थे, आजाद हो, आजाद रहोगे,
भारत की जवानियों के तुम खून में बहोगे।

चंद्रशेखर आजाद इमेज

चंद्रशेखर आजाद जयंती 2018 कोट्स, शायरी, स्लोगन, कविता, इमेज चंद्रशेखर आजाद जयंती 2018 कोट्स, शायरी, स्लोगन, कविता, इमेज चंद्रशेखर आजाद जयंती 2018 कोट्स, शायरी, स्लोगन, कविता, इमेज

चंद्रशेखर आजाद का भारत की आजादी की लड़ाई में एक महत्वपूर्ण योगदान है| उन्होंने आजदी की लड़ाई लड़ते हुए कई ऐसी बाते कही जो किसी के मन में देश भक्ति की भावना जाग्रत कर देगी| आज हम यहाँ उनके कुछ कोट्स और स्लोगन शेयर कर रहे है| जो आपके मन में देश भक्ति की भावना जाग्रत कर देगी|