के. एल. सहगल के 114वें जन्मदिन पर गूगल ने डूडल बनाकर किया...

के. एल. सहगल के 114वें जन्मदिन पर गूगल ने डूडल बनाकर किया याद

0
SHARE

के. एल. सहगल के 114वें जन्मदिन पर गूगल ने डूडल बनाकर किया याद: भारत के महान एक्ट्रेस और सिंगर के. एल. सहगल के 114वें जन्मदिन पर गूगल ने उनका डूडल बनाकर याद किया| कुंदनलाल सहगल का जन्म अविभाजित भारत के जम्मू में 11 अप्रैल, 1904 को हुआ था| जो भारत के पहले सुपरस्टार माने जाते है| उनकी शख्सियत के अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है की उन्होंने इस समय 200 फ़िल्मी गाने गाए| सहगल के कई ऐसे गाने भी है जो आज भी युवाओं के दिलों पर राज कर रहे है| वे अपने गायन के दम पर भारतीय फिल्म इंडस्ट्री को सातवें आसमान पर ले गए|

के. एल. सहगल के 114वें जन्मदिन पर गूगल ने डूडल बनाकर किया याद

सहगल साहब के कुछ फेमस गाने है – जब दिल ही टूट गया, एक बंगला बने न्यारा, हम अपना उन्हें बना ना सके, दो नैना मतवाले तिहारे, मैं क्या जानूं क्या जादू है, किताबें, तकदीर आदि जो आज भी युवाओं के द्वारा सुने जाते रहे है बने रहे।

Baaghi 2 Box Office Collection

सहगल साहब ने साल 1931-32 के बीच भारतीय सिनेमा की दुनिया में कदम रखने के बाद कुछ ही समय में मशहूर होते चले गए| साल 1935 से 1947 तक उन्होंने गायकी और एक्टिंग की दुनिया में राज किया| खबरों के अनुसार के. एल. सहगल ने अपने फ़िल्मी सफर में कुल 36 फिल्मों में काम किया| जिनमें से 28 हिंदी फिल्मों में जबकि 7 बंगाली फिल्मों में काम किया|

इनमें ‘प्रेसिडेंट’, ‘माई सिस्टर’, ‘जिंदगी’, ‘चांदीदास’, ‘भक्त सूरदास’, ‘तानसेन’ और अन्य हिट रहीं। हालांकि, इस दिग्गज कलाकार का केवल 42 साल की उम्र में निधन हो गया। बाद में वह लता मंगेशकर, किशोर कुमार, मोहम्मद रफी और मुकेश सहित कई दिग्गज गायकों के लिए प्रेरणा बने।

Blackmail Box Office Collection

गूगल ने आज भारतीय इतिहास के इस महान कलाकार का डूडल बनाया है। डूडल में केएल सहगल की जिस फोटो का इस्तेमाल किया गया है, उसमें वह गाना गा रहे हैं। उनकी तस्वीर के पीछे कोलकाता के कुछ रेखांकन दर्शय गए हैं। ऐसा इसलिए है, क्योंकि पहले भारतीय फिल्मी दुनिया का केंद्र कोलकाता हुआ करता था। बाद के सालों में मुंबई हिंदी फिल्मों के केंद्र के रूप में उभरा चला गया।