साल 2028 तक भारत बन जाएगा दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी पर्यटन...

साल 2028 तक भारत बन जाएगा दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी पर्यटन अर्थवयवस्था, 1 करोड़ नई नौकरियां भी आएँगी

0
SHARE

साल 2028 तक भारत बन जाएगा दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी पर्यटन अर्थवयवस्था, 1 करोड़ नई नौकरियां भी आएँगी: वर्ल्ड ट्रैवल एंड टूरिज्म काउंसिल (डब्ल्यूटीटीसी) ने देश की जीडीपी और टूरिज्म से होने वाली आमदनी के विश्लेषण के आधार पर एक रिपोर्ट की तैयार किया है| इस रिपोर्ट को बीते गुरुवार को जारी किया गया| जिसमें बताया गया की भारत साल 2028 तक दुनिया की तीसरी सबसे टूरिज्म अर्थव्यवस्था बन कर उभरेगा| इस रिपोर्ट के अनुसार साल 2028 तक देश में इस इंडस्ट्री में 1 करोड़ के करीब नई नौकरियाँ भी निकलने क उम्मीद जताई गई है| बता दें की ट्रैवल और टूरिज्म में सीधे और अप्रत्यक्ष रूप से साल 2028 तक 42.9 मिलियन से बढ़कर लगभग 52.3 मिलियन नौकरियाँ मिलेगी|

साल 2028 तक भारत बन जाएगा दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी पर्यटन अर्थवयवस्था, 1 करोड़ नई नौकरियां भी आएँगी

वर्ल्ड ट्रेवल एंड टूरिज्म काउंसिल (डब्ल्यू टीटीसी) रिपोर्ट

इस समय भारत टूरिज्म अर्थव्यवस्था के लिहाज से दुनिया की सातवीं सबसे बड़ी इकोनॉमी है| रिपोर्ट में बताया गया है की आने वाले समय के पर्यटन इंफ्रास्ट्रक्चर काफी बड़े सुधार होंगे| डब्ल्यूटीटीसी की अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी ग्लोरिया गेवेरा ने बताया की भारत को अपने पर्यटन इंफ्रास्ट्रक्चर को और ज्यादा बेहतर बनाने और उस पर समय के साथ ध्यान देने की जरुरत है|

रेलवे ग्रुप डी एग्जाम पैटर्न 2018, फिजिकल टेस्ट, RRB New Exam Pattern Details in Hindi

भारत में टूरिज्म के क्षेत्र में काफी ग्रोथ है लेकिन इसके लिए भारत को अपने इंफ्रास्ट्रक्चर में काफी बड़े स्तर पर सुधर करना होगा| भारत के पड़ोसी देशों में वर्ल्ड क्लास इन्फ्रास्ट्रक्चर| ग्लोरिया ने कुछ समय शुरू की गई योजनाओं की तारीफ भी की| उन्होंने सरकार के द्वारा लिए फैसलों से इंटरनेशनल पर्यटक को लुभाने में मदद मिलेगी| भारत सरकार के ये कदम काफी काबिले तारीफ है जैसे ई-वीजा की सुविधा शुरू करना और इंक्रेडिबल इंडिया 2.0 कैंपेन को लॉन्च करना इसमें शामिल है|

महाराष्ट्र: सूचना के अधिकार के तहत उजागर हुआ ‘चूहा घोटाला’

भारत में टूरिज्म के लिहाज से काफी संभावनाए है| लेकिन इसके उपर सभी को मिलजुल कर काम करने की जरुरत है| चाहे वो देश का नागरिक हो या फिर सरकार से जुड़े लोग|