Aam Budget 2018: जाने क्या होगा आपके लिए इसमें खास?

Aam Budget 2018: जाने क्या होगा आपके लिए इसमें खास?

0
SHARE

Union Budget 2018, Aam Budget 2018 Date and Time India: केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली 1 फरवरी 2018 को वित्तीय वर्ष 2018-19 का आम बजट पेश करने जा रहे है| संसद में बजट 11 दिन के अंदर पेश किया जाएगा| वर्ष 2017-2018 का बजट भी इस समय ही पेश हुआ था| बता दें की यह बजट मोदी सरकार के पाँच साल के कार्य का आखरी बजट होगा| इसके बाद देश में एक बार फिर से लोकसभा चुनाव होंगे| संसद में बजट सत्र 29 जनवरी से शुरू हो चूका है| बजट सेशन का पहला सत्र 29 जनवरी से 9 फरवरी के बीच चलेगा| वही दूसरे बजट सत्र 5 मार्च से 6 मार्च तक होगा| दोनों बजट सत्र के बीच कुछ समय का गैप होगा| ऐसा इसलिए होगा क्योंकि बजट से सम्बन्धी प्रस्तावों को स्थायी समितियों के द्वारा देखा जा सके|

Budget 2018: जाने क्या होगा आपके लिए इसमें खास?
नरेंद्र मोदी सरकार के लिए इस बार का बजट काफी मायने रखता है, क्योंकि पिछले दोनों बजट में सरकार की तरफ से दो बड़े वित्तीय फैसले लिए गए थे| एक नोटबंदी तो दूसरे जीएसटी (गुड्स एंड सर्विस टैक्स)। जीएसटी के लागू होने के बाद सरकार पहली बार आम बजट 2018 पेश करेंगी| संसद के बजट का सत्र देश राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ शुरू हुआ| संसद के दोनों सदनों का सयुंक्त सत्र 30 जनवरी को आयोजित हुआ| अब सभी की आँखे वित्त मंत्री अरुण जेटली पर टिकी है| देखने वाली बात होगी की आम बजट 2018-2019 में आम जनता के लिए क्या खास होगा|

बता दें की पिछले वर्ष वित्तीय बजट पेश करने की प्रक्रिया 1 फरवरी सुबह तकरीबन 11 बजे चालू हुई थी| पिछले बजट भारत का ऐतिहासिक बजट था क्योंकि भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ था की बजट को एक महीना पहले पेश किया गया| बजट को एक महीना पहले पेश करने पर, मोदी सरकार ने दलील दी थी इससे बजट में शामिल योजनाओं और कार्यों को पुरा करने में समय मिल जाएगा| पहले 1 अप्रैल से वित्त वर्ष से बजटीय प्रावधानों को लागू करने में सरकार को दिकतो का सामना करना पड़ता था|

ये भी पढ़े- BUDGET 2018 Live Streaming: संसद से आम बजट 2018 का लाइव प्रसारण यहाँ देखे-

Railway Budget 2018: 1 फरवरी को होगा पेश, जाने क्या है आपके लिए खास?

Economic Survey 2018 के अनुसार विकास दर 7 से 7.5 फीसदी रहने की उम्मीद

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कुछ समय एक इंटरव्यू में कहा था की आम बजट 2018 में एग्रीकल्चर सेक्टर को प्राथमिकता देंगे| इंटरव्यू में आगे बात करते हुए उन्होंने कहा था की कुछ जगहों पर उत्पादन ज्यादा होने के कारन किसानों को अपनी फसल का सही दाम नहीं मिल पाता| किसानों की इन समस्या को देखते हुए पिछले कुछ सालो से सरकार के द्वारा कई प्रकार के कदम उठाएं गए है| जिसका असर भी देखने को मिला है|

आपको बता दें की इस बजट के कई तरह की लोकलुभावने घोषणाएँ भी की जा सकती है| ऐसा इसलिए होने सम्भावना है क्योकि ऐसी साल देश के चार बड़े राज्य कर्नाटक, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने है