चंद्र ग्रहण 2018: जाने कब और किस समय होगा चंद्रग्रहण

चंद्र ग्रहण 2018: जाने कब और किस समय होगा चंद्रग्रहण

0
SHARE

(Lunar Eclipse) Chandra Grahan 2018 Date and Time in India Precautions, Effects, Sutak Timings, Super Blue Blood Moon Images : साल 2018 का पहला चंद्रग्रहण बुधवार 31 जनवरी को दिखाई पड़ेगा| यह ग्रहण माघ महीने की पूर्णिमा को पूरे देशभर में दिखेगा| ग्रहण वाले दिन चन्द्रमा तीन रंगो में दिखेगा, चंद्रमा का यह रूप 35 सालों के बाद दिखाई देगा| ऐसी मान्यता है की इस दिन भगवान के दर्शन करना शुभ नहीं होता| यही वजह है की इस दिन मंदिर के कपाट को बंद कर दिया जाता है| भारत में चंद्रग्रहण के दिखाई देने के साथ ही सूतक काल का प्रारंभ भी होगा| सूतक काल सुबह 8:34 मिनट पर शुरू होगा, जिसके शुरू होते ही मंदिर के कपाट हो बंद कर दिया जाता है| शुद्धि होने तक कपाट बंद ही रहेंगे| यह ग्रहण कुछ लोगो के लिए शुभ तो वही कुछ के लिए अशुभ होगा| इस चंद्रग्रहण के दिन ही 176 साल बाद पुष्य नक्षत्र का शुभ संयोग बनने जा रहा है| इस दिन आम दिनों के मुकाबले थोड़ा बड़ा तथा अलग दिखाई देगा|

चंद्र ग्रहण 2018: जाने कब और किस समय होगा चंद्रग्रहण

चंद्रग्रहण का समय: भारतीय ज्योतिषविज्ञान परिषद के ा अनुसार चंद्र ग्रहण श्याम 6:21 से 7:38 के बीच दिखाई देगा| वैसे चंद्र ग्रहण की शुरुआत श्याम 4:22 मिनट पर होगी, लेकिन भारत में यह ग्रहण अलग-अलग समय पर दिखेगा| देखे समय किसी शहर में कब दिखेगा चंद्रग्रहण कोलकाता में 5.17 बजे, दिल्ली में 5.54 बजे, चेन्नई में 6.04 बजे, मुंबई में 6.27 बजे दिखाई पड़ेगा|

चंद्र ग्रहण 2018: जाने कब और किस समय होगा चंद्रग्रहण

(Today) Chandra Grahan 2018 Live Update: 

  • शास्त्रों के मुताबिक ग्रहण के समय शारीरिक संबंध बनाने, नुकीली चीजों के प्रयोग आदि से व्यक्ति के जीवन पर बुरा असर पड़ने की सम्भावना है| इस प्रकार के कार्यों को ग्रहण के समय तथा उसे दिन नहीं किया जाना चाहिए|
  • उत्तराखंड के नैनीताल में स्थापित आर्यभट्टा रिसर्च इंस्टीट्यूट के अनुसार यह घटना किसी भी व्यक्ति के जीवन चक्र में एक बार देखने की मिलती है, क्योकि ट्रिपल ट्रिफेक्टा 36 सालों के एक लम्बे अंतराल पर आता है| यही वह दिन है जब चाँद धरती के सबसे पास होता है और सात फीसदी बड़ा तथा चमकदार दिखता है| भारत में नैनीताल से ग्रहण की इस प्रक्रिया को साफ देखा जा सकता है|
  • हिन्दू शास्त्रों ग्रहण को अच्छा नहीं माना जाता| आज दोपहर में उत्तर भारत में भूकंप के झटके महसूस किए गए| जिन्हे विद्वान् ग्रहण से पड़ने वाले नकारात्मक प्रभाव जोड़ कर देख रहे है| चंद्र ग्रहण के समय ज्योतिषों के द्वारा ऊं नमः शिवाय और ऊं नमो भगवते वासुदेवाय नमः के मंत्रो के जाप करने की सलाह दी है|

 

  • भारत में चंद्रग्रहण तकरीबन 1 घंटा 16 मिनट तक रहेगा|

चन्द्र ग्रहण लाइव देखे यहाँ- 

देखे आपके शहर में कब होगा सूतक काल? 

-दिल्ली, शाम 5.54 बजे
-देहरादून, शाम 5.47 बजे
– हरिद्वार, शाम 5.48 बजे
– इलाहाबाद, शाम 5.40 बजे
– अमृतसर, शाम 5.58 बजे
– बैंगलुरू, शाम 6.16 बजे
– भोपाल, शाम 6.02 बजे
– चंडीगढ़, शाम 5.52 बजे
– चेन्नई, शाम 6.04 बजे
– कटक, शाम 5.32 बजे
– गया, शाम 5.27 बजे
– जालंधर, शाम 5.56 बजे
– कोलकत्ता शाम 5.17 बजे
– लखनऊ, शाम 5.41 बजे
– मुजफ्फरपुर, शाम 5.23 बजे
– नागपुर, शाम 5.58 बजे
– नासिक, शाम 6.22 बजे
– पटना, शाम 5.26 बजे
– पुणे, शाम 6.23 बजे
– रांची, शाम 5.28 बजे
– उदयपुर, शाम 6.15 बजे
– उज्जैन, शाम 6.09 बजे
– वड़ोदरा, शाम 6.21 बजे
– कानपुर, शाम 5.44 बजे

ये भी पढ़े- Surya Grahan 2018 Date and Time: जानें कब है पहला सूर्य ग्रहण, भारत में कब दिखाई देगा यह

चंद्र ग्रहण के दिन 176 साल बाद बना है यह संयोग, जाने खास बाते-

चंद्रग्रहण के बाद किस राशि के लोग क्या दान करे जाने यहाँ-

चंद्र ग्रहण का इन 6 राशियों पर पड़ेगा असर, जाने इनके बारे में

उल्लू के बारे में कुछ रोचक जानकारियाँ तथा तथ्य|

जाने औरतों की छाती से जुड़े कुछ सेक्सी और रोचक तथ्य|

जाने मौत से जुड़े कुछ राज और अजीब तथ्य

Guru Ravidas Jayanti 2018: जानें कौन थे संत रविदास? पढ़े उनके अनमोल वचन

चंद्रमा के उदय होने का समय: कोलकाता में 5:17 बजे, दिल्ली में 6:04 बजे, चेन्नई में 6:04 बजे, मुंबई में 6:26 बजे

चंद्र ग्रहण का क्या मतलब है? चंद्रग्रहण क्या होता है?

चंद्र ग्रहण तब होता है जब चन्द्रमा और सूर्य के बीच में पृथ्वी आती है| चंद्र ग्रहण होने का कारण, पृथ्वी का सूर्य और चन्द्रमा के बीच में आना है, जिसके कारण सूर्य की रोशनी चन्द्रमा तक नहीं पहुँच पाती| पृथ्वी के दोनों के बीच में आने की स्तिथि में चंद्र ग्रहण लगता है| पृथ्वी के बीच में आने के कारण सूर्य की रोशनी चन्द्रमा तक नहीं आती, यही कारण है की पृथ्वी के उस भाग में चंद्रग्रहण नजर दिखाई देता है|